केन्द्र सरकार काले कानूनों को वापस लेकर चर्चा के बाद बनाये नये सिरे से – डाॅ. सुभाष गर्ग

Last Updated on January 13, 2021 by Shiv Nath Hari

केन्द्र सरकार काले कानूनों को वापस लेकर चर्चा के बाद बनाये नये सिरे से – डाॅ. सुभाष गर्ग

  • अंतिम दिन 6 गाॅवों में हुये किसान संवाद कार्यक्रम
  • किसान हितों को नुकसान पहुॅचाने वाले कानूनों को लागू नहीं होने दिया जायेगा – डाॅ. जोशी
क्षेत्रीय विधायक एवं तकनीकी व संस्कृत शिक्षा राज्य मंत्री डाॅ. सुभाष गर्ग

भरतपुर, 13 जनवरी। भरतपुर विधानसभा क्षेत्र में केन्द्र सरकार द्वारा किसानों को नुकसान पहुॅचाने वाले बनाये गये तीन काले कानूनों की जानकारी के लिये आयोजित किये जा रहे किसान संवाद कार्यक्रमों के अंतिम दिन बुधवार को जाटौली रथभान ग्राम पंचायत मुख्यालय पर जिला प्रभारी एवं मुख्य सचेतक डाॅ. महेश जोशी की अध्यक्षता में आयोजित हुआ जिसमें डाॅ. जोशी ने चेतावनी देते हुये कहा कि किसी भी स्थिति में किसानों को हानि पहुॅचाने वाले कानूनों को लागू नहीं होने दिया जायेगा चाहे इसके लिये लम्बा संघर्ष क्यों न करना पडे। कार्यक्रम की अध्यक्षता क्षेत्रीय विधायक एवं तकनीकी व संस्कृत शिक्षा राज्य मंत्री डाॅ. सुभाष गर्ग ने की।

डाॅ. महेश जोशी

कार्यक्रम में डाॅ. महेश जोशी ने कहा कि राजस्थान सरकार किसानों को भूमि का हक दिलाने के लिये भूमि सुधार कार्यक्रम लेकर आई लेकिन अब केन्द्र सरकार जो तीन काले कानून लेकर आई है उसके बाद किसानों की भूमि का हक छिन जायेगा। उन्होंने यह भी कहा कि किसानों को जिस तरह आतंकवादी अथवा देश विरोधी करार दे रहे हैं ये सब पार्टी विशेष की सोची समझी चाल है। उन्होंने बताया कि जो कानून बनाये हैं उनमें समर्थन मूल्य पर खरीद की कोई गारन्टी नहीं है ऐसी स्थिति में किसानों को अपनी उपज पंूजीपतियों को कम दामों पर बेचने के लिये मजबूर होना पडेगा। उन्होंने विश्वास दिलाया कि डीएमएफटी से आवश्यक राशि भरतपुर विधानसभा क्षेत्र को आवंटित की जायेगी ताकि क्षेत्र में नई सडकों का निर्माण हो सके।
किसान संवाद कार्यकम की अध्यक्षता करते हुये तकनीकी एवं संस्कृत शिक्षा राज्य मंत्री डाॅ. सुभाष गर्ग ने कहा कि क्षेत्र की नवीन सडकों के निर्माण के प्रस्ताव भिजवा दिये गये हैं और विश्वास दिलाया कि आगामी वर्षों में जाटौली रथभान गाॅव प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र खोल दिया जायेगा। उन्होने कृषि कानूनों पर विस्तार से प्रकाश डालते हुये बताया कि इन कानूनों से किसानों को भारी नुकसान होगा इसी कारण पिछले करीब 45 दिनों से किसान विपरीत मौसमी परिस्थितियों में सडकों पर डेरा डालकर आंदोलनरत हैं जिनमें से करीब 70 की मौत हो चुकी है। उन्होंने कहा कि जब उच्चतम न्यायालय ने कृषि कानूनों पर रोक लगा दी है तो प्रधानमंत्री को चाहिये कि इन कानूनों को वापस लेने की घोषणा करें और सभी से चर्चा कर संसद एवं राज्यसभा में पारित कराकर नये सिरे से किसान हितों को ध्यान में रखकर कानून बनायें यदि यह सब संभव नहीं हो तो सांसदों की समिति को सौंपें और समिति की रिपोर्ट के आधार पर आवश्यक संशोधन कर लागू करें।
बुधवार को ही भरतपुर विधानसभा क्षेत्र के रामपुरा , जघीना , बिलौठी , हथैनी ग्राम पंचायत मुख्यालयों पर किसान संवाद कार्यक्रमों का आयोजन हुआ जिनकी अध्यक्षता नगर निगम के महापौर अभिजीत कुमार ने की तथा इसी दिन नगला झीलरा में जनसुनवाई हुई। किसान संवाद कार्यक्रमों में रामपुरा गाॅव में डाॅ. सुभाष गर्ग ने कहा कि पंचायत घर ,उपस्वास्थ्य केन्द्र एवं पशु स्वास्थ्य उपकेन्द्र के लिये भूमि उपलब्ध होने के बाद शीघ्र निर्माण कार्य शुरू हो जायेगा। इन केन्द्रों के लिये भूमि दान देने वाले रघुवीर सिंह चैहान , अमरनाथ व शिवचरन का माला व साफा पहनाकर सम्मान किया। जघीना गाॅव में आयोजित कार्यक्रम में राजा खेमकरण के नाम से प्रवेश द्वार बनाने की घोषणा की और गाॅव में पुस्तकालय खोलने का विश्वास भी दिलाया । उन्होने बताया कि प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के निर्माण के लिये भूमि उपलब्ध हो गई है अब शीघ्र निर्माण का कार्य शुरू होगा। उन्होंने कहा कि अगले शिक्षा सत्र से गाॅव के विद्यालय में विज्ञान विषय खोल दिया जायेगा। जघीना गाॅव के रा.उ.मा.वि. मंे नवनिर्मित प्रार्थना स्थल का फीता काटकर उद्वघाटन भी किया।
डाॅ. गर्ग ने बिलौठी एवं हथैनी ग्राम पंचायत मुख्यालयों पर आयोजित किसान संवाद कार्यक्रमों में कहा कि ग्रामीण आपसी मनमुटाव को दूर कर सद्भाव एवं शांति बनाये रखें तभी विकास को गति मिल सकेगी। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही गाॅव में चम्बल पेयजल मुहैया होने लगेगा जिसके लिये पाईप लाईन डालने का कार्य शुरू कराया जा रहा है तथा शमशान व पोखर की चारदीवारी का निर्माण भी कराया जायेगा। गाॅव में स्वच्छता कार्यक्रम के तहत नाली निर्माण व पोखर की चारदीवारी के लिये आवश्यक राशि स्वीकृत की जायेगी जिसकी कार्ययोजना स्वीकृति के लिये भिजवा दी गई है। उन्होंने हथैनी गाॅव के खाली पडे प्राथमिक विद्यालय में पुनः 5वीं तक की कक्षाऐं शीघ्र शुरू कराने का विश्वास दिलाते हुये कहा कि भवन की मरम्मत भामाशाहों के सहयोग से कराई जायेगी।