Rajasthan: After the withdrawal of nomination in the first phase, 5388 sarpanch and 11890 panch candidates are in the fray for the post

केशवानंद भारती के निधन पर मोदी ने जताया शोक

Last Updated on September 6, 2020 by Shiv Nath Hari

Modi expressed grief over the death of Keshavanand Bharti

नयी दिल्ली, 06 सितम्बर| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संत केशवानंद भारती के निधन पर रविवार को शोक प्रकट करते हुए कहा कि वह आने वाली पीढ़ियों को भी प्रेरित करते रहेंगे।

भारती की याचिका पर ही उच्चतम न्यायालय ने अपना ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए संविधान के मूल ढांचे का सिद्धांत दिया था।

उन्होंने ट्वीट कर कहा, ”पूज्य केशवानंद भारती जी को हम उनकी सामुदायिक सेवा तथा शोषितों को सशक्त करने के उनके प्रयासों के लिए हमेशा याद रखेंगे। हमारे महान संविधान और भारत की समृद्ध संस्कृति से उनका गहरा लगाव था। वह पीढ़ियों को प्रेरित करते रहेंगे। ओम शांति।”

केरल निवासी संत केशवानंद भारती श्रीपदगवरु का इदानीर मठ में उम्र संबंधी बीमारियों की वजह से 79 साल की उम्र में आज कासरगोड में निधन हो गया।

उल्लेखनीय है कि चार दशक पहले भारती ने केरल भूमि सुधार कानून को चुनौती दी थी, जिसपर सुनवाई करते हुए उच्चतम न्यायालय ने संविधान के मूल ढांचे का सिद्धांत दिया और यह फैसला शीर्ष अदालत की अब तक सबसे बड़ी पीठ ने दिया था, जिसमें 13 न्यायाधीश शामिल थे।