लुपिन बनी अनाथ बच्चों की मददगार,21 हजार की सहायता

लुपिन बनी अनाथ बच्चों की मददगार,21 हजार की सहायता,जिला कलक्टर ने मृतक दम्पति के अनाथ बच्चों को सौंपा चैक

Last Updated on May 21, 2020 by Shiv Nath Hari

Lupine becomes help for orphans, 21 thousand assistance, district collector handed over check to orphans of deceased couple
लुपिन बनी अनाथ बच्चों की मददगार,21 हजार की सहायता

लुपिन बनी अनाथ बच्चों की मददगार,21 हजार की सहायता
-जिला कलक्टर ने मृतक दम्पति के अनाथ बच्चों को सौंपा चैक

हलैना(भरतपुर) उपखण्ड भुसावर क्षेत्र के गांव निठार में 24 घन्टा के अन्तराल में मृतक पति-पत्नी के अनाथ बच्चों को षिक्षा तथा लालन-पालन के लिए लुपिन फाउन्डेषन भरतपुर के अधिषासी निदेषक सीताराम गुप्ता एवं आरपीएम डाॅ.राजेष षर्मा के आदेषानुसार जिला कलक्टर नथमल डिडेल के द्वारा 21 हजार की आर्थिक मदद अनाथ बच्चों की 75 वर्षीय नानी चमेली को प्रदान की गई।

लुपिन के अधिषासी निदेषक सीताराम गुप्ता ने बताया कि भुसावर उपखण्ड के गांव निठार में टीबी एवं तपेदिक बीमारी से 12 मई को सन्तोषदेवी तथा 13 मई को मृतका पति सुरेषचन्द की मौत हो गई,मृतक दम्पति के 12 वर्ष के कम आयु के तीन पुत्र है,जो अब अनाथ हो गए। मृतक दम्पति के बच्चों की देखभाल कामां उपखण्ड के गांव बाॅलखेडा निवासी 75 वर्षीय उनकी नानी चमेली कर रही है। उन्होने बताया कि गृह रक्षा राज्यमंत्री भजनलाल जाटव एवं गांव के गणमान्य नागरिकों के आग्रह पर मृतक दम्पति के बच्चों के भविष्य वास्ते षिक्षा,लालन-पालन एवं घर का जीर्णोद्वार आदि के लिए लुपिन द्वारा 21 हजार की राषि स्वीकृत की गई।

लुपिन के क्षेत्रीय कार्यक्रम प्रबन्धक डाॅ0 राजेश शर्मा ने बताया कि लुपिन के अधिषासी निदेषक सीताराम गुप्ता द्वारा मृतक दम्पति के अनाथ बच्चों की नानी चमेली के नाम 21 हजार का चैक जारी किया,उक्त चैक को जिला कलक्टर नथमल डिडेल के समक्ष बच्चों की नानी चमेली को प्रदान किया गया। जिला कलक्टर नथमल डिडेल ने मृतक दम्पति की दर्द भरी व्यथा सुनी और 75 वर्षीय चमेली द्वारा बच्चों की देखभाल करना देख दुःखी हो गए,जिन्होने चमेली से आग्रह किया कि तीनों बच्चों को आवश्यक रूप से विद्यालय भेजें ताकि उन्हें राज्य सरकार की पालनहार योजना के तहत सहायता राशि प्रदान की जा सके।

जिला कलक्टर डिडेल ने लुपिन के अधिषासी निदेषक सीताराम गुप्ता के द्वारा अनाथ बच्चो सहित देखभाल कर रही चमेली को आर्थिक मदद देने तथा बच्चों को षिक्षा दिलाना आदि सहयोग करने पर सराहना की । लुपिन के क्षेत्रीय कार्यक्रम प्रबन्धक डाॅ0 राजेश शर्मा ने भी विश्वास दिलाया कि अनाथ बच्चों के लिये संस्था और अधिक सहायता प्रदान करेगी तथा शिक्षा दिलाने में भी मदद दी जायेगी। भुसावर-वैर के कार्यक्रम प्रभारी गज्जनसिंह वर्मा एवं षिवसिंह धाकड ने बताया कि गांव निठार निवासी सुरेश की मृत्यु 13 मई को एवं उनकी पत्नी संतोष देवी की मृत्यु 12 मई को तपेदिक रोग से हो गई थी। अपने पीछे तीन नाबालिग बच्चों को छोड़ गये हैं। जिनकी देखभाल अब नानी चमेली कर रही है।

हलैना से विष्णु मित्तल