Gujjar society took the decision to not eat death and child marriage

गुर्जर समाज ने लिया मृत्यु भोज औऱ बालविवाह ना करने का निर्णय

Last Updated on February 13, 2021 by Shiv Nath Hari

गुर्जर समाज ने लिया मृत्यु भोज औऱ बालविवाह ना करने का निर्णय

Gujjar society took the decision to not eat death and child marriage
फोटो- ड़ीग के गांव पसोपा में गुर्जर समाज के लोगो को संबोधित करते हुए गुर्जर अठ्ठाइसी के चौधरी राजेंद्र सिंह

ड़ीग– 13 ड़ीग उप खंड के गांव पसोपा में पशुपति नाथ (वीर बाबा) के मंदिर पर बाबा स्व श्याम दास महाराज की स्मृति में भंडारे का आयोजन किया गया जिसमे पसोपा, काहरीका, अलीपुर, उदयपुरी, सबलाना गाँवो सहित हजारों ग्रामीणों ने परसादी ग्रहण की।
इस मौके पर गुर्जर अठ्ठाईसी के अध्यक्ष चौधरी राजेंद्र सिंह का साफा बांधकर स्वागत किया गया तथा बाबा लाल दास पर चादर डालकर उसे मंदिर का महंत बनाया गया। अपने अध्यक्षीय संबोधन में चौधरी राजेंद्र सिंह ने समाज के लोगों से बालिकाओं को उच्च शिक्षा दिलाने का आह्वान किया। इस मौके पर मे गुर्जर अट्ठासी के चौधरी सिंह की अध्यक्षता में सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित कर गुर्जर समाज द्धारा भविष्य में मृत्यु भोज का आयोजन और बाल विवाह न करने का निर्णय लिया।साथ ही तय किया गया कि शिक्षा को बढावा देने और उसका स्तर सुधारने के लिए विधालयो में शिक्षा समितियो का गठन किया जावेगा और जो विद्यालय या शिक्षक 100%परीक्षा परिणाम देंगे उन्हें सम्मानित किया जाएगा । जिसमे
सरदार पटेल शिक्षा समिति का संयोजक सौरव तौंगर को बनाया गया। इस कार्यक्रम में विजय सरपंच सुल्तान, कुंवर सिंह ,गुल्लेसिहं ,अनेक सिंह ,नेमी सिंह ,चतर सिंह ,जनार्दन सिंह चन्नी ,श्याम सुंदर, जिला पार्षद मोहन सिंह आदि ने भाग लिया।