राजा खेमकरण सोगरिया जयन्ती समारोह हुआ आयोजित

Last Updated on January 14, 2023 by Swati Brijwasi

राजा खेमकरण सोगरिया जयन्ती समारोह हुआ आयोजित

  • युवाओं को महापुरूषों के जीवन से लेनी चाहिए प्रेरणा-विश्वेन्द्र सिंह
  • विकास में सभी जातियों व धर्मों के लोगों की सहभागिता आवश्यक-डॉ. गर्ग

भरतपुर 14 जनवरी। मथुरा रोड़ पर स्थित जघीना तिराहे पर राजा खेमकरण सोगरिया की 354वीं जयन्ती के अवसर पर राजा खेमकरण की प्रतिमा पर पर्यटन एवं नागरिक उड्डयन मंत्री विश्वेन्द्र सिंह एवं तकनीकी शिक्षा व आयुर्वेद राज्यमंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने पुष्पांजलि अर्पित की और उन्हें 17वीं सदी का महान योद्धा एवं आधुनिक भरतपुर का निर्माता बताया।
पुष्पांजलि के बाद श्याम मैरिज गार्डन में आयोजित समारोह में मुख्य अतिथि के रूप मंे बोलते हुये पर्यटन मंत्री विश्वेन्द्र सिंह ने राजा खेमकरण सोगरिया को नमन करते हुये सभी को मकर संक्राति की बधाई दी और कहा कि युवाओं को महापुरूषों के जीवन से प्रेरणा लेकर उनके बताये मार्ग पर चलने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि भरतपुर के महाराजाओं ने सभी लोगों को साथ लेकर क्षेत्र एवं धर्म की रक्षा की और ऐसे सामाजिक विकास के कार्य किये जो आज भी प्रासंगिक हैं। उन्होंने कहा कि समाज के युवाओं को गोत्रवाद से दूर रहने की आवश्यकता है क्योंकि हम सभी एक ही समाज के लोग हैं यदि गोत्रवाद रहेगा तो हम आगे बढ नहीं सकेंगे। उन्होंने कहा कि जाट समाज ऐसा समाज रहा है जिसने सभी जातियों को साथ लेकर भरतपुर की रक्षा की है उन्होंने सुग्रीव मन्दिर में सामुदायिक भवन निर्माण के लिए विधायक निधि से 20 लाख रुपये देेने का विश्वास दिलाया तथा भरतपुर में खुलने वाले महाविद्यालयों में से किसी एक महाविद्यालय का नाम राजा खेमकरण के नाम करने की आवश्यकता प्रतिपादित की। उन्होंने राजा खेमकरण के नाम पर डाक टिकट जारी करने के सम्बन्ध में कहा कि महामहिम उपराष्ट्रपति जगदीश धनकड से मिलकर इस मांग को पूरा कराया जायेगा।
कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुये तकनीकी शिक्षा एवं आयुर्वेद राज्यमंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने कहा कि भरतपुर के विकास में सभी धर्मों व जातियों के लोगों की सक्रिय भागीदारी आवश्यक है तभी विकास को अपेक्षित गति मिल सकेगी। उन्होंने कहा कि राजा खेमकरण सोगरिया सहित अन्य राजाओं ने देश के इतिहास में भरतपुर को अपनी पहचान दिलाई। उन्होंने विश्वास दिलाया कि राजा खेमकरण सोगरिया की फतेहगढ़ी में प्रतिमा लगाने और किसी एक पार्क का नाम राजा खेमकरण के नाम कराया जायेगा। उन्होंने बताया कि जघीना रोड़ पर राजा खेमकरण द्वार का निर्माण का कार्य प्रारंभ करा दिया गया है तथा राजा खेमकरण तिराहे को आकर्षक बनाने के निर्देश भी दिये जा चुके हैं।
कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में पूर्व विधायक विजय बंसल ने अपने विचार व्यक्त करते हुये कहा कि राजा खेमकरण सोगरिया ने अपनी वीरता से भरतपुर का नाम रोशन किया है। उन्होंने विश्वास दिलाया सोगरिया समाज की मांगों को पूरा कराने में सहयोग किया जायेगा।
प्रारंभ में इतिहासकार रामवीर सिंह वर्मा ने राजा खेमकरण सोगरिया के कृतित्व एवं व्यक्तित्व पर विस्तार से प्रकाश डाला। कार्यक्रम में जिला पुलिस अधीक्षक श्यामसिंह, डिप्टी मेयर गिरीश चौधरी, कुम्हेर के प्रधान श्यामवीर, पूर्व प्रधान विजयपाल, पूर्व सभापति शिवसिंह भौंट, डीग नगर पालिका के चैयरमैन निरंजन टकसालिया, राष्ट्रीय लोकदल के जिला अध्यक्ष संतोष फौजदार, साहबसिंह चौधरी, श्यामसिंह जघीना, प्रेमसिंह कुन्तल, घनश्याम सरपंच, पार्षद सतीश सोगरवाल, दलवीर जघीना, ज्ञानू जघीना, राजू ठेकेदार, रघुवीर सिंह टुण्डा, दर्याब नेता, विक्रम सिंह सरपंच, हजारी सिंह, लेखराज, कप्तान सिंह, गंभीर सिंह, गिर्राज सिंह, नरेन्द्र बनिया, जेपी सिंह, अशोक जघीना, मनोज, मानसिंह सरपंच सहित भारी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे।

Leave a Comment