जिला प्रशासन एवं पर्यटन विभाग द्वारा आयोजित दो दिवसीय डीग महोत्सव का हुआ समापन

Last Updated on October 11, 2022 by Swati Brijwasi

जिला प्रशासन एवं पर्यटन विभाग द्वारा आयोजित दो दिवसीय डीग महोत्सव का हुआ समापन
डीग पर्यटन सर्किट से जुडने के रोजगार की बढेगी अपार संभावनाऐं – डॉ. गर्ग


भरतपुर 11 अक्टूबर। जिला प्रशासन एवं पर्यटन विभाग द्वारा आयोजित किये जा रहे दो दिवसीय डीग महोत्सव का मंगलवार को तकनीकी शिक्षा एवं आयुर्वेद राज्यमंत्री डॉ. सुभाष गर्ग के मुख्य आतिथ्य में समापन हुआ। इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि के रूप में संभागीय आयुक्त सांवरमल वर्मा एवं पुलिस महानिरीक्षक गौरव श्रीवास्तव उपस्थित थे। कार्यक्रम में साफा प्रतियोगिता भी आयोजन हुआ जिसके सफल प्रतिभागियों को अतिथियों द्वारा प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।
समापन समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में बोलते हुये तकनीकी शिक्षा राज्य मंत्री डॉ. गर्ग ने डीग महोत्सव के आयोजन के लिये पर्यटन विभाग को बधाई देते हुये कहा कि डीग की विरासत पूरे विश्व में जानी जाती है यहॉ के महलों की वास्तुकला को निहारने के लिये देश-विदेश के पर्यटकों का आना-जाना बन रहता । उन्होंने कहा कि डीग में पर्यटन के विकास के लिये इसे पर्यटन सर्किट से जोडा जा रहा है जिसके लिये मुख्यमंत्री ने पर्यटन विकास के लिये एक हजार करोड रूपये आवंटित किये हैं इस राशि में से डीग के विकास के लिये भी आवश्यक अंशदान प्राप्त होगा। उन्होंने बताया कि पर्यटन के विकास के बाद क्षेत्रीय लोगों को रोजगार के नये अवसर प्राप्त होंगे। उन्होंने कहा कि इस तरह के आयोजनों से क्षेत्रीय निवासियों को स्थानीय संस्कृति के अलावा प्रदेश के विभिन्न भागों की सांस्कृतिक विरासत को जानने का अवसर प्राप्त होता है।
डॉ. गर्ग ने भरतपुर के विकास पर चर्चा करते हुये बताया कि मुख्यमंत्री ने इस बार बजट में भरतपुर संभाग को सर्वाधिक राशि आवंटित की है। उन्हांेने बताया कि चम्बल का मीठा पेयजल उपलब्ध कराने के लिये वर्तमान योजना के अलावा 3100 करोड रूपये की एक योजना और स्वीकृत की है इस योजना के तहत पूरे जिले के निवासियों को पर्याप्त पेयजल उपलब्ध हो सकेगा। भावी पेयजल की मांग को देखते हुये 5700 करोड रूपये की योजना का तकमीना तैयार किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि जिले में अतिवृष्टि के कारण फसल खराबे की गिरदावरी कराकर सभी किसानों को राज्य आपदा प्रबंधन और बीमा कम्पनी द्वारा मुआवजा दिलाया जायेगा।
कार्यक्रम में संभागीय आयुक्त सांवरमल वर्मा ने कहा कि ऐसे कार्यक्रमों का आयोजन समय समय पर होना चाहिये ताकि राज्य की संस्कृति का संरक्षण हो सके और कलाकारों को भी प्रोत्साहन मिल सके। उन्होंने विभिन्न प्रतियोगिताओं में असफल रहने वाले प्रतिभागियों का आव्हान किया कि वे और अधिक मेहनत करें जिससे आगामी प्रतियोगिताओं में सफलता मिल सके। कार्यक्रम में पुलिस महानिरीक्षक गौरव श्रीवास्तव ने कहा कि ऐसी प्रतियोगिताओं के माध्यम से दूर-दराज के गॉवों में छिपी हुई प्रतिभाओं को आगे आने का अवसर प्राप्त होता है।
इस अवसर पर साफा प्रतियोगिता के जूनियर वर्ग में हेमन्त बन्धा चौथ ने प्रथम , दीपक पास्ता ने द्वितीय एवं यदुवीर पास्ता ने तृतीय स्थान प्राप्त किया जबकि सीनियर वर्ग में महाराज सिंह साहपुर ने प्रथम , आनन्द प्रकाश पटेल ने द्वितीय और चक्रधर सिंह , बृजेन्द्र साहपुर एवं रमाकांत शर्मा ने तृतीय स्थान प्राप्त किया जिन्हें पुरूस्कार देकर सम्मानित किया। कार्यक्रम में रस्साकसी प्रतियोगिता के सफल प्रतिभागियों को भी सम्मानित किया गया। अतिथियों के डीग के जलमहलों में पहुॅचने पर नगर पालिका के चेयरमैन निरंजन सिंह टकसालिया व पर्यटन विभाग के संयुक्त निदेशक राजेश शर्मा ने स्वागत किया।

Leave a Comment