आगामी 4-5 वर्षों में भरतपुर शहर की बदल जायेगी तस्वीर

Last Updated on May 20, 2022 by Swati Brijwasi

आगामी 4-5 वर्षों में भरतपुर शहर की बदल जायेगी तस्वीर

The picture of Bharatpur city will change in the next 4-5 years
  • कुम्हेर रोड से मोती झील पावर हाउस तक नवनिर्मित सडक का किया लोकार्पण
  • आगामी 4-5 वर्षों में भरतपुर शहर की बदल जायेगी तस्वीर- डाॅ. गर्ग
  • पेयजल , विद्युत सप्लाई, स्वास्थ्य , गंदे पानी निकास सहित अन्य योजनाऐं होंगी पूरी


भरतपुर 20 मई। तकनीकी शिक्षा एवं आयुर्वेद राज्य मंत्री डाॅ. सुभाष गर्ग ने शुक्रवार को कुम्हेर रोड से मोती झील पावर हाउस तक नगर विकास न्यास द्वारा करीब 40 लाख 26 हजार रूपये की लागत से नवनिर्मित सडक का लोकार्पण किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि भरतपुर शहर के विकास के लिये चल योजनाओं के परिणाम आगामी 4-5 वर्षों बाद मिलेंगे तब शहर की तस्वीर बदल जायेगी।


लोकार्पण के बाद आयोजित समारोह को संबोधित करते हुये तकनीकी शिक्षा राज्य मंत्री डाॅ. सुभाष गर्ग ने कहा कि राज्य सरकार ने शहर की सभी सडकों को जीर्णोद्वार एवं चैडाईकरण के लिये पर्याप्त राशि आवंटित की है जिनके कार्य भी संवेदकों को आवंटित कर दिये गये हैं किन्तु कुछ संवेदकों द्वारा समय पर कार्य नहीं किये जाने की वजह से अधिकांश सडकों का कार्य अभी भी अधूरा है। उन्होंने बताया कि वे सडकों का कार्य समय पर पूरा कराने का पूरा प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार द्वारा शहर के जलभराव की समस्या के निराकरण के लिये 275 करोड रूपये की राशि आवंटित की थी उसकी तीसरी बार निविदाऐं आमंत्रित की गई हैं उम्मीद है कि इस योजना का कार्य भी शीघ्र शुरू होगा।
डाॅ. गर्ग ने बताया कि चम्बल से मीठा पानी लाने के लिये राज्य सरकार ने 3100 करोड रूपये की एक और योजना स्वीकृत की है जिसके तहत धौलपुर में चम्बल के पास एक छोटा बांध बनाया जायेगा जिससे पाईप लाईन द्वारा भरतपुर के 1044 गाॅवों को पेयजल उपलब्ध कराया जायेगा। इस योजना के पूरा होने तक राज्य सरकार स्थानीय स्रोतों से आवश्यकता के अनुसार पेयजल मुहैया कराने का प्रयास कर रही है। उन्होंने बताया कि भरतपुर विधानसभा क्षेत्र में 15 अंग्रेजी माध्यम स्कूल खोले जा रहे हैं जिससे गरीब तबके के लोगों के बच्चों को अंग्रेजी माध्यम में अध्ययन करने की सुविधा मिल सकेगी। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार ने पुरानी पेंशन योजना का जो निर्णय लिया है उसे पूरा करेगी और अभी हाल ही में मुख्यमंत्री ने यह घोषणा की है कि केन्द्र सरकार यदि एनपीएस की राशि उपलब्ध नहीं कराती है तब भी राज्य सरकार पुरानी पेंशन योजना लागू करेगी।


प्रारम्भ में नगर विकास न्यास के सचिव कमलराम मीणा ने बताया कि गैर योजना क्षेत्र में निर्मित इस सडक के निर्माण के लिये करीब 43 लाख रूपये स्वीकृत हुये थे किन्तु 1204 मीटर लम्बी इस सडक के निर्माण पर 40 लाख 26 हजार रूपये व्यय हुये हैं। कार्यक्रम में जिला कलक्टर आलोक रंजन , सेवर के प्रधान श्रीमति शकुन्तला सतीश सोगरवाल , उपप्रधान ओमप्रकाश , प्रेमचंद शर्मा, सरपंच रवि मुरवारा सहित गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

Leave a Comment