हिंद के विभूषित वंशो पहलवान का 99 वर्ष की उम्र में निधन

Last Updated on August 27, 2020 by Shiv Nath Hari

हिंद के विभूषित वंशो पहलवान का 99 वर्ष की उम्र में निधन

Photo Deeg village Paramdara resident late descendants wrestler

फोटो डीग के गांव परमदरा निवासी दिवंगत वंशो पहलवान

डीग -27 अगस्त रियासत काल में हिन्द केसरी की उपाधि से विभूषित बंशो पहलवान का 99 बर्ष की उम्र में निधन हो गया वे डीग उप खंड के गांव परमदरा के निवासी थे।
ग्राम पंचायत परमदरा के पूर्व सरपंच बलवीर गुर्जर और गुर्जर अठ्ठाईसी के चौधरी राजेंद्र सिंह ने बताया है कि स्वतंत्रता से पूर्व वह भरतपुर रियासत के प्रमुख पहलवान थे जिन्होंने उत्तर भारत के सभी प्रमुख दगलों में अपनी मल्ल विद्या का लोहा मनवाया था जिसके चलते उन्हें हिंद केसरी की उपाधि से विभूषित किया गया था। उनके शिष्य गांव परमदरा निवासी नथ्थन पहलवान और रतन पहलवान पांच पांच बार राजस्थान केसरी रह चुके हैं।

रियासत काल में 10 किलो दूध 500 ग्राम की और ढाई सौ ग्राम बादाम और ढाई सौ ग्राम मुनक्का उनकी प्रतिदिन की खुराक थी।
उनके अंतिम संस्कार में परमदरा के अलावा आसपास के गांव के बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए।