राजस्थान: पर्यटन एवं देवस्थान मंत्री विश्वेन्द्र सिंह ने आमजन से की अपील धैर्य से काम लें और महामारी को रोकने में सरकार का करें सहयोग|

Last Updated on March 29, 2020 by Shiv Nath Hari

राजस्थान: पर्यटन एवं देवस्थान मंत्री विश्वेन्द्र सिंह ने आमजन से की अपील धैर्य से काम लें और महामारी को रोकने में सरकार का करें सहयोग|

Rajasthan: Tourism and Devasthan Minister Vishvendra Singh appealed to the common people to work patiently and cooperate with the government in preventing the epidemic.
Rajasthan: Tourism and Devasthan Minister Vishvendra Singh appealed to the common people to work patiently and cooperate with the government in preventing the epidemic.

भरतपुर 29 मार्च। पर्यटन एवं देवस्थान मंत्री विश्वेन्द्र सिंह ने कहा कि राज्य सरकार कोरोना वायरस महामारी से निपटने के प्रति पूरी तरह संवेदनशील है। पर्यटन मंत्री श्री सिंह ने रविवार को स्थानीय सर्किट हाउस में पत्रकारों से रूबरू होते हुए यह बात कही। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार एवं जिला प्रशासन द्वारा महामारी के प्रभाव को कम करने के लिए किये जा रहे प्रयासों में आमजन में पूरी तरह सहयोग करें और सोशल डिस्टेसिंग को बनाये रखने के लिए आवश्यकता होने पर ही घरों से बाहर निकले।

उन्होंने व्यापारियों को हिदायत देते हुए कहा कि कोई भी व्यापारी कालाबाजारी, जमाखोरी एवं मुनाफाखोरी करते हुए पकड़ा गया तो उसके विरूद्ध सख्त कार्रवाई की जायेगी। उन्होंने वार्ड पार्षदों एवं सरपंचों से कहा कि वे आगे आकर आमजन का सहयोग करें तथा यह भी ध्यान रखें कि उनके क्षेत्र में कोई भी परिवार भूखा न रहे और इसके लिए स्थानीय भामाशाहों की मदद लें। उन्होंने आमजन से अपील की कि वे धैर्य रखें और घबराहट में कोई ऐसा कदम न उठाये जिससे राज्य सरकार एवं जिला प्रशासन द्वारा किये जा रहे महामारी की रोकथाम के प्रयासों में बाधा पहुंचे। उन्होंने आमजन से कहा कि जो टीमें कोरोना संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम के कार्य में लगी हैं उनसे अभद्र व्यवहार नहीं करें और स्क्रीनिंग तथा लाॅकडाउन में पूरा सहयोग करें।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा बाहरी राज्यों एवं जिलों से आने वाले मजदूरों एवं लोगों को घर तक पहुंचाने के लिए राज्य की सीमा तक वाहनों का संचालन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी की रोकथाम के लिए और अधिक कड़े कदम उठाने की आवश्यकता हुई तो राज्य सरकार वह भी उठाने में नहीं हिचकिचायेंगी। उन्होंने आमजन से अपील की कि पड़ोस में आने वाले बाहरी व्यक्तियों पर नजर रखें तथा इसकी जानकारी स्थानीय नियंत्रण कक्ष को दें।

प्रेस वार्ता में जिला कलक्टर नथमल डिडेल ने बताया कि राज्य सरकार के निर्देश पर बाहरी राज्यों एवं जिलों से आने वाले लगभग 18 हजार 462 लागों को 232 बसों के माध्यम से सीमा तक पहुंचाया गया साथ ही उनके खाने की व्यवस्था की गई। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा यह पूर्ण प्रयास किये जा रहे है कि कोरोना वायरस की रोकथाम को रोकने के लिए की जा रही व्यवस्थाओं से आमजन को कोई परेशानी न हो। उन्होंने कहा कि जिले में आम दैनिक उपभोग की वस्तुएं पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है। उन्होंने कहा कि कालाबाजारी रोकने के लिए टीमें गठित कर दी गई है साथ ही और भी प्रयास किये जा रहे है तथा व्यापारियों से दुकानों के बाहर रेट लिस्ट लगाने के निर्देश दिये गये है। उन्होंने कहा कि अब तक 114 सैम्पलों की रिपोर्ट प्राप्त हुई है जो नेगेटिव है तथा 15 नये सैम्पल जांच के लिये भिजवाये गये है। जिनकी रिपोर्ट आनी शेष है।