Rajasthan Today: अजमेर दक्षिण विधायक कोष के अभिशंषित कार्याें को शीघ्र करवाया जाएगा – उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट

Last Updated on March 12, 2020 by Shiv Nath Hari

Rajasthan Today: अजमेर दक्षिण विधायक कोष के अभिशंषित कार्याें को शीघ्र करवाया जाएगा – उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट

Rajasthan Today: अजमेर दक्षिण विधायक कोष के अभिशंषित कार्याें को शीघ्र करवाया जाएगा  - उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट
Rajasthan Today: अजमेर दक्षिण विधायक कोष के अभिशंषित कार्याें को शीघ्र करवाया जाएगा – उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट

Rajasthan Today News: जयपुर, 12 मार्च। उपमुख्यमंत्री श्री सचिन पायलट ने गुरुवार को विधानसभा में कहा कि अजमेर दक्षिण के विधायक कोष के अभिशंषित कार्याें को शीघ्र पूरा करवाया जाएगा। 
श्री पायलट प्रश्नकाल में विधायकों द्वारा इस संबंध में पूछे गये पूरक प्रश्नों का जवाब दे रहे थे। उन्होंने कहा कि विभाग द्वारा विधायक अथवा सांसद के निर्माण कार्योें में निजी जमीन पर कार्य स्वीकृत नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि इस कार्य को जब अजमेर विकास प्राधिकरण अपने अधीन ले लेगा तब वहां निर्माण कार्य शुरु कर दिया जाएगा।  


उन्होंने कहा कि तकनीकी स्वीकृतियां तथा वित्तीय स्वीकृतियां तो जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी कर सकता है लेकिन अजमेर दक्षिण विधायक कोष के कार्याें में कार्यकारी एजेंसी द्वारा जो लापरवाही हुई है, उसे शीघ्र दिखवा लिया जाएगा। उन्होंने आश्वस्त किया कि इस संबंध में विभाग द्वारा सभी कार्य स्वीकृत हो चुके हैं लेकिन कार्यकारी एंजेसी द्वारा जो भी विलंब हुआ है, उसे तुरन्त दिखवाकर शीघ्र ही कार्य करवा लिया जाएगा। 

ससे पहले विधायक श्रीमती अनिता भदेल के मूल प्रश्न के लिखित जवाब में श्री पायलट ने विधानसभा क्षेत्र अजमेर दक्षिण में विधायक कोष से वित्तीय वर्ष 2018-19 में अभिशंषित कार्यों में से स्वीकृत अथवा प्रक्रियाधीन कार्यों एवं अस्वीकृत (निरस्त) कार्यों का विवरण सदन के पटल पर रखा। उन्होंने उक्त स्वीकृत कार्यों की प्रशासनिक एवं वित्तीय स्वीकृतियों का विवरण भी सदन के पटल पर रखा। उन्होंने बताया कि अभिशंषित कार्यों की निर्धारित समयावधि में प्रशासनिक व वित्तीय स्वीकृतियां जारी किये जाने के पूर्ण प्रयास किये गये हैं। उन्होंने बताया कि कुछ प्रकरणों में भू-स्वामित्व स्पष्ट नहीं होने तथा अपर्याप्त राशि की अनुशंषा जैसे कारणों से वित्तीय स्वीकृतियां जारी किये जाने में विलम्ब हुआ है। 

पमुख्यमंत्री ने बताया कि अजमेर के मास्टर प्लान के अन्तर्गत अधिसूचित शहरी क्षेत्र  में कृषि भूमि जो खातेदारी में दर्ज है, का राजस्थान भू-राजस्व अधिनियम 1956 की धारा 90 ए के तहत आबादी (अकृषि) प्रयोजनार्थ/ नियमन / रूपान्तरण / आवंटन का अधिकार अजमेर विकास प्राधिकरण में निहित होने से प्राधिकरण द्वारा कृषि  भूमि पर बसी आबादी क्षेत्रों के उपरोक्त नियमों के अन्तर्गत प्रक्रिया उपरान्त नियमन की कार्यवाही की जाती है। अवधि की गणना, प्रकरण विशेष के गुण-अवगुण पर ही निर्भर करेंगी।


उन्होंने बताया कि राजस्थान भू-राजस्व अधिनियम की धारा 90 ए के तहत खातेदारी भूमि को आबादी में परिवर्तन करने के लिये खातेदार द्वारा आवेदन प्रस्तुत करने पर अथवा संबंधित स्थानीय निकाय द्वारा स्वतः ही भूमि के खातेदार की सुनवाई करने के बाद मास्टर प्लान के अनुसार आबादी में परिवर्तन करने का उचित आदेश जारी करने का प्रावधान है। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार द्वारा आगामी शहरी अभियान के दौरान स्वप्रेरणा से संज्ञान लेकर संबंधित भूमि को अजमेर विकास प्राधिकरण, अजमेर के नाम दर्ज कर स्वीकृति से शेष रहे अभिशंषित कार्यों को नियमान्तर्गत स्वीकृत किया जा सकेगा।


श्री पायलट ने बताया कि विधायक श्रीमती अनिता भदेल की अभिशंषा पर योजना के दिशा-निर्देशों के अन्तर्गत  अत्यधिक पुरानी घनी आबादी में भी कार्य स्वीकृत किये गये हैं। उन्होंने बताया कि उक्त स्वीकृत कार्यों में से 10 कार्य नगर निगम क्षेत्र में स्वीकृत हुए हैं जहा संबंधित वार्डों में लगभग 850 परिवार रहते हैं। इसी प्रकार 28 कार्य अजमेर विकास प्राधिकरण क्षेत्र में स्वीकृत हुये हैं जहां संबंधित क्षेत्र में 3000 परिवार निवास करते हैं।