Rajasthan lockdown: वैर विधानसभा को राज्यमंत्री ने दिए 62 लाख

Last Updated on April 3, 2020 by Shiv Nath Hari

वैर विधानसभा को राज्यमंत्री ने दिए 62 लाख

हलैना-भरतपुर गृह रक्षा व नागरिक सुरक्षा राज्यमंत्री भजनलाल जाटव ने आमजन से लाॅक डाउन में धैर्य रखे और कोरोना वायरस से मानव जीवन को बचाव के लिए घर के अन्दर सुरक्षित रहे,वैर विधानसभा-075 मेरा निर्वाचन क्षेत्र है,लाॅक डाउन में कोई भी परिवार भूखा नही रहेगा,सरकारी मशीन,लुपिन फाउन्डेशन एवं भामाशाह जरूरतमन्द व गरीब परिवारों को राशन सामग्री बांट रहे है और प्रशासन,पुलिस,चिकित्साकर्मी,लुपिन,किरन ग्रुप,पत्रकार,भामाशाह सहित ग्राम पंचायत के जनप्रतिनिधियों का सहयोग सराहनीय है।

गृह रक्षा राज्यमंत्री भजनलाल जाटव ने दूरभाष पर बताया कि कोरोना वायरस से मानव जीवन पर संकट है,कोरोना वायरस को लेकर विश्व चिकिन्त है,कोरोना से मानव जीवन कैसे बचाया जाए। सरकार ने लाॅक डाउन कर रखा है और धारा 144 लागू कर रखी है,जिसमें आमजन को धैर्य रख नियम की पालना करनी होगी। सरकारी मशीन,निजी क्षेत्र के अधिकारी-कर्मचारी एवं भामाशाह प्रधानमंत्री तथा मुख्यमंत्री सहायता कोष में पैसा भेज रहे है और घर-घर राशन सामग्री भेज बांट रहे है। उन्होने बताया कि वैर विधानसभा क्षेत्र को मास्क,चिकित्सा उपकरण,एम्बूलेंस,कोविड-19 जांच किट,राशन सामग्री,मास्क आदि को विधायक कोष से 62 लाख तथा एक महिना के वेतन सहित निजी राशि दी है। जिससे वैर विधानसभा क्षेत्र का कोई भी व्यक्ति भूखा नही रहे।

नगर पालिका वैर के पार्षद मानसिंह सैनी,भुसावर के पार्षद प्रकाशचन्द जाटव एवं पूर्व पार्षद चिरमोली जाटव ने बताया कि गृह रक्षा व नागरिक सुरक्षा राज्यमंत्री भजनलाल जाटव ने विधायक कोष से भुसावर,वैर एवं हलैना सीएचसी पर कोविड-19 जांच किट को 5 लाख,वैर में एम्बूलेंस को 6 लाख,मास्क व सेनेटाइजर क्रय को 1 लाख तथा राशन सामग्री व अन्य आवश्यक वस्तु क्रय को 50 लाख दिया है और एक महिना का वेतन सहित लुपिन फाउन्डेशन व भामाशाहों सहित स्वयं का पैसा राशन सामग्री को दिया है।

उन्होने बताया कि गृह रक्षा राज्यमंत्री प्रदेश सहित वैर विधानसभा क्षेत्र के लोगों पर नजर रखे हुए,जो दिन में कई बार प्रशासन एवं क्षेत्र के गणमान्य नागरिकों सहित कार्यकर्ता व समर्थको से कोविड-19 एवं लाॅक डाउन की जानकारी ले रहे है,जरूरतमन्द व गरीब परिवारों को सूचना पर राशन सामग्री मुहैया करा रहे है।
—हलेना से विष्णु मित्तल