Rajasthan coronavirus news: कोरोना से डरे नहीं, पूरा विभाग है सजग और चौकन्ना- चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री

Last Updated on March 4, 2020 by Shiv Nath Hari

Rajasthan coronavirus news: जयपुर, 4 मार्च। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने बुधवार को विधानसभा में बताया कि कोरोना वायरस हालांकि वैश्विक आपदा घोषित हो चुका है लेकिन प्रदेश की आमोआवाम इससे डरें नहीं। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग इसकी रोकथाम के लिए पूरी तरह सजग और चौकन्ना है। 
डॉ. शर्मा शून्यकाल के दौरान इस विषय पर अपना वक्तव्य दे रहे थे। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार द्वारा कोरोना की जांच के लिए 2 फरवरी से जयपुर के एसएमएस मेडिकल कॉलेज के माइक्रोबायोलोजी विभाग में जांच सुविधा प्रारंभ करवा दी थी। अब प्रदेश के सभी छह राजकीय मेडिकल कॉलेज के अलावा झालावाड़ मेडिकल कॉलेज में भी कोरोना की जांच की व्यवस्था शुरू कर दी है। उन्होंने बताया कि एसएमएस लैब में अब तक 113 नमूनों की जांच की गई। जांचे गए नमूनों में से 98 नेगेटिव और 1 पॉजिटिव पाया गया तथा 1 की प्रारम्भिक जांच में पॉजिटिव पाए जाने पर कन्फर्म जांच के लिए पुणे लैब में रक्त का नमूना भेजा गया है, जबकि 13 का परिणाम आना शेष है। 


चिकित्सा मंत्री ने बताया कि कोरोना वायरस के संदिग्ध रोगियों को उपचार करने के लिए जयपुर के एसएमएस अस्पताल में अलग से 30 बेड्स का आइसोलेशन वार्ड की सुविधा है। इसके अलावा सभी मेडिकल कॉलेजों व जिला अस्पतालों में आइसोलेशन बेड्स की सुविधा उपलब्ध करवाई जा रही है। 


डॉ. शर्मा ने बताया कि कोरोना वायरस की रोकथाम व नियंत्रण और बचाव के लिए सांगानेर अन्तर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट पर आने वाली सभी अन्तराष्ट्रीय उड़ानों में आए यात्रियों की स्क्रीनिंग 28 जनवरी से की जा रही है। एयरपोर्ट पर 5 चिकित्सक व 5 नसिर्ंग स्टाफ का दल स्क्रीनिंग में जुटा है। उन्होंने बताया कि वर्तमान में सांगानेर एयरपोर्ट पर शारजाह, दुबई, क्वालालम्पुर, मस्कट, ओमान, थाईलैंड व बैंकाक देश से डायरेक्ट फ्लाइट आती है। उनकी भी नियमित स्क्रीनिंग की जा रही है। चिकित्सा मंत्री ने बताया कि अब तक सांगानेर एयरपोर्ट जयपुर पर 168 एयरक्रॉफ्ट के 24,832 यात्रियों की स्क्रीनिंग की गई है, जिनमें से 77 यात्री प्रभावित देशों से आए हैं, इनमें से 9 लोगों को लक्षण पाए जाने पर जांच कराई गई जो नेगेटिव पाए गए। 


उन्होंने बताया कि वर्तमान में विश्व में यह रोग लगभग 75 देशों में फैल चुका है। रोग का अत्यधिक प्रसार प्रथमतः चीन देश में हुआ है तथा वर्तमान में अब चीन के साथ-साथ ईरान, इटली, हांगकांग, सिंगापुर, दक्षिण कोरिया, जापान, वियतनाम, मलेशिया व नेपाल आदि में रोग फैल चुका है। उन्होंने बताया कि विश्व में अब तक 90,870 केसेज में 3143 मृत्यु हो चुकी है।


श्री शर्मा ने बताया कि भारत सरकार द्वारा 3 मार्च को दी गई सूचना के अनुसार देश में एक विदेशी नागरिक (इटली) सहित कुल 6 रोगी (केरल-3, दिल्ली-1, तेलंगाना-1 एवं राजस्थान-1 (इटली निवासी) पॉजिटिव पाए गए हैं। प्रदेश में अब तक कुल 1 रोगी इटली निवासी श्री एन्ड्री कॉरली, उम्र 69 वर्ष प्रदेश में कोरोना पॉजीटिव पाया गया है तथा एन्ड्री कॉरली की पत्नी श्रीमती लोमबार्डीया पीनोकिया भी प्रारम्भिक जांच में पॉजीटिव पायी गई है तथा कन्फर्मेशन टेस्ट के लिए श्रीमती लोमबार्डीया पीनोकिया की ब्लड की जांच नेशनल वायरोलोजी लैब पूणे भिजवाई गई है, जिनकी रिपोर्ट अभी आना बाकी है।


चिकित्सा मंत्री ने बताया कि कोरोना प्रभावित देशों से आने वाले यात्रियों मे लक्षण पाये जाने पर उन्हे आईसोलेशन वार्ड में भर्ती कर जांच, निगरानी व उपचार किया जा रहा है। अब तक कुल 89 यात्रियों को संबंधित जिलें के मेडिकल कॉलेज/िंजला अस्पताल में जांच एवं उपचार के लिए भर्ती करवाया गया है, जिनमे से 67 को लक्षण होने एवं शेष को निर्देशानुसार चीन के अधिक प्रभावित क्षेत्र वुहान से आने के कारण एहतियात के तौर पर लक्षण नही होने पर भी भर्ती कर जांच किया गया। 


डॉ. रघु शर्मा ने बताया कि प्रदेश में कोरोना वायरस की रोकथाम व उपचार हेतु चिकित्सा संस्थानों पर पर्सनल प्रोटेक्टीव इक्यूपमेंट (पीपीई किट), एन-95 मास्क, ट्रिपल लेयर मास्क, पर्याप्त मात्र में उपलब्ध करवाए गए हैं। पर्सनल प्रोटेक्टीव इक्यूपमेंट (पीपीई) किट मंप मास्क, गाउन, कैप, ग्लवस, शू कवर, गोग्लस होते हैं। दो प्रकार के मास्क होते हैं ट्रिपल लेयर मास्क आमजन के उपयोग के लिए और दूसरा एन-95 रोगी व रोगी के उपचार करने वाले चिकित्सक अन्य मेडिकल स्टॉफ के उपयोग के लिए काम में आता है। 


इटली के पर्यटक दल के बारे में उन्होंने बताया कि श्री एन्ड्री कॉरली, पुरूष, उम्र 69 वर्ष निवासी ईटली कोरोना वायरस से पॉजीटिव पाए गए। उन्होंने उनके दल के बारे में पूरी जानकारी देते हुए बताया कि श्री कॉरली 21 फरवरी  को नई दिल्ली एयरपोर्ट पर अपने 22 सह यात्रियों के साथ इटली से भारत आये तथा दिनांक 21 फरवरी को ही बस द्वारा मंडावा (झुन्झुनू)  होटल कैसल में पहुंचे। 22 फरवरी  को वे बस द्वारा गंजकेसरी होटल बीकानेर पहुंचे,  23-24 फरवरी को रंगमहल होटल जैसलमेर ठहरे, 25 फरवरी दल होटल जोनपार्क जोधपुर पहुंचा और 26 से 28 फरवरी होटल ट्राइडेन्ट उदयपुर ठहरे और 28 फरवरी को होटल रमाड़ा जयपुर में सायंकाल पहुंचे।  उन्होंने बताया कि 28 फरवरी को श्री एन्ड्री को तबीयत खराब होने पर फोर्टिस हॉस्पीटल जयपुर में भर्ती किया गया और कोरोना संदिग्ध होने की दृष्टि से उन्हंॉ 29 फरवरी को आइसोलेशन अस्पताल एसएमएस में भर्ती कराकर कर जांच की गई, जिसमें परिणाम नेगेटिव प्राप्त हुआ।


उन्होंने बताया कि कोरोना रोग की प्रारम्भिक जांच नेगेटिव होने पर अन्य रोग की सम्भावना को देखते हुए मेडिकल आईसीयू में स्थानातरित किया गया। स्थिति में सुधार नहीं होने पर पुनः कोरोना रोग की जांच की गई। दुबारा स्क्रीनिंग जांच में पॉजिटीव पाए जाने पर कन्फर्मेशन करने के लिए 2 मार्च को रक्त का नमूना भारत सरकार के गाइडलाइन के अनुसार पुणे लैब में भिजवाया गया, जोकि बाद में पॉजीटिव पाया गया। इनका उपचार एसएमएस अस्पताल में जारी है। श्री एन्ड्री की पत्नी श्रीमती लोमबार्डीया पीनोकिया का गाइडलाइन अनुसार निकटतम सम्पर्क होने के कारण उनका 3 फरवरी को सैम्पल लिया गया जो प्रारम्भिक स्क्रीनिंग जांच में पॉजीटिव पाया गया। इसकी कन्फर्मेशन जांच के लिए रक्त के नमूने नेशनल वायरोलोजी लैब पूणे भेजा जा रहा है।


डॉ. शर्मा ने बताया कि विभाग द्वारा 23 इटली यात्रियों के समूह द्वारा भ्रमण के दौरान उपयोग में किए गए होटल के कमरों व कमरों के आस पास के क्षेत्र में डिसइन्फेक्सन की कार्यवाही करवाई गई ताकि रोग का संक्रमण ना फैले। साथ ही होटल में यात्रियों के सम्पर्क में आए कर्मचारियों को मेडिकल टीम के निगरानी में रखा जा रहा है। उन्होंने बताया कि 3 मार्च को विभाग द्वारा मेडिकल कॉलेज के पीएसएम, मेडिसिन, माइक्रोबॉयोलोजी, पीडियाट्रीशियन विभाग के वरिष्ठ प्रोफेसराें का रेपिड रेस्पोन्स टीम के रूप में दल का गठन किया गया। उक्त टीम इटली यात्रियों के ठहरने के होटलाें का निरीक्षण करते हुए उनके संपर्क में आये व्यक्तियों की पहचान कर चिकित्सा जांच करेंगे तथा लक्षण वाले व्यक्तियाें को आइसोलेशन में भर्ती कर जांच के लिए सैम्पल एसएमएस मेडिकल कॉलेज में भिजवाए जाएंगे। 


उन्होंने बताया कि इटली यात्रियों के सम्पर्क में आए झुन्झुनू मेें 59 व्यक्तियों में से 39, जोधपुर 14 में से 01, बीकानेर 44 में से 0, जैसलमेर 14 में से 0, उदयपुर 06 में से 01 व रमाड़ा होटल जयपुर 06 कार्मिकों के नमूने लेकर एसएमएस अस्तपाल में जांच के लिए भिजवाए गए हैं। श्री एन्ड्री के उपचार के दौरान फोर्टिस अस्पताल के 35 में से 09 कार्मिक व एसएमएस अस्पताल के 37 में से 37 कार्मिकों के कोरोना वायरस की जांच के लिए नमूने लिये गये। इस प्रकार अब तक 215 व्यक्ति के सम्पर्क में आने की जानकारी प्राप्त हुई है तथा 93 व्यक्तियों के नूमने लिये गये है। 51 व्यक्तियों के नमूने नेगेटिव पाये गए हैं। श्री एन्ड्री की पत्नी प्रारम्भिक जांच में पॉजिटीव पाई गई है, शेष 42 नमूनों की जांच रिपोर्ट आना शेष है।
चिकित्सा मंत्री ने बताया कि इटली के पर्यटकों द्वारा यात्रा किए गए जिलों उदयपुर, बीकानेर, जैसलमेर, झुन्झुनू, जोधपुर, जयपुर जिले के नोडल अधिकारियों को संबंधित स्थलों तथा सम्पर्क में आए लोगों की सैम्पलिंग एवं आइसोलेशन आदि व्यवस्थाओं का जायजा लेने के लिए निर्देशित किया गया है।


चिकित्सा मंत्री ने बताया कि भारत सरकार द्वारा समय-समय पर ट्रेवल एडवाइजरी, हैल्थ केयर फेसिलिटी में इन्फैक्शन, प्रीवेन्शन एवं कंट्रोल, सैम्पल कलेक्शन एण्ड ट्रांसपोर्टेशन, डिस्चार्ज पॉलिसी, क्लिनिकल केस मैनेजमेंट से संबंधित गाइड लाइन, कन्टेनमेन्ट प्लान तथा डिसइन्फेक्शन पॉलिसी जारी की गई जिसे विभाग के समस्त मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी एवं प्रमुख चिकित्सा अधिकारी, प्रधानाचार्य व अधीक्षक को उपलब्ध कराते हुये उसके अनुरूप कार्य करवाए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि भारत सरकार द्वारा समय-समय पर वीडियो कॉन्फे्रसिंग के माध्यम से समीक्षा की जा रही है एवं नवीनतम सूचना से राज्य को अवगत भी कराया जा रहा है। 
Rajasthan coronavirus news: Rajasthan coronavirus news: Rajasthan coronavirus news: Rajasthan coronavirus news: Rajasthan coronavirus news: Rajasthan coronavirus news:

HINDI NEWS

Leave a Comment