राजस्थान: भरतपुर में कोरोना वायरस संदिग्धों की इंफ्रारेड टेंपरेचर मशीन द्वारा की गई जांच

Last Updated on April 30, 2020 by Shiv Nath Hari

राजस्थान: भरतपुर में कोरोना वायरस संदिग्धों की इंफ्रारेड टेंपरेचर मशीन द्वारा की गई जांच

Rajasthan: Corona virus suspects in Bharatpur investigated by infrared temperature machine
राजस्थान: भरतपुर में कोरोना वायरस संदिग्धों की इंफ्रारेड टेंपरेचर मशीन द्वारा की गई जांच

भरतपुर( 30अप्रैल)। कोरोना वायरस के संदिग्धों की प्रथम स्टेज की जांच करने के लिए आज शहर के वार्ड नं 24 के मुख्य लक्ष्मण मंदिर व कोतवाली क्षेत्र में रहने वाले प्रत्येक व्यक्तियों की वार्ड पार्षद संजय शुक्ला ने स्वयं की मॉनिटरिंग में जयपुर से आयी डाक्टरों की टीम द्वारा इंफ्रारेड टेंपरेचर मशीन से जांच कराई ।

पार्षद संजय शुक्ला ने बतलाया कि चिकित्सा विभाग के निर्देशन में राजीव गांधी वेलफेयर सोसाइटी जयपुर की टीम द्वारा वार्ड के हर व्यक्ति की इंफ्रारेड टेंपरेचर मशीन से जांच की जा रही है जिससे वार्ड में कोरोना वायरस से संक्रमित संदिग्धों का पता लगाकर समय रहते उनका शीघ्र उपचार किया जा सके व अन्य व्यक्तियों को संक्रमित होने से बचाया जा सके।

पार्षद शुक्ला ने बतलाया कि वार्ड में आज घर घर जाकर लगभग 3000 (तीन हज़ार) व्यक्तियों की जांच कर दी गई है जो अभी जारी है जांच में अभी तक कोई भी वायरस से संदिग्ध नहीं पाया गया है।

वेलफेयर सोसाइटी के अध्यक्ष डॉ देव अमित सिंह ने बतलाया की इंफ्रारेड टेंपरेचर मशीन में हर व्यक्ति का 98.7° फॉरेनहाइट तक का टेंपरेचर सामान्य रहता है अगर जांच में किसी का इससे ज्यादा टेंपरेचर पाया जाता है तो ऐसे व्यक्ति को संदिग्ध मानकर तुरन्त ही विभाग को सुपुर्द कर दिया जाता है जिससे उसके टेस्ट आदि की कार्यवाही के साथ उपचार हो सके।

इंफ्रारेड टेंपरेचर मशीन से जांच कार्य सोसायटी के अध्यक्ष डॉ देव अमित सिंह, राकेश सिंह, कुलदीप अग्रवाल व मिलन अग्रवाल समाजसेवी की देखरेख में किया जा रहा है जनहित में इन कोरोना योद्धाओ का वार्ड वासियों ने जगह-जगह पुष्प वर्षा से स्वागत कर तालियां भी बजाकर उनका उत्साहवर्धन किया।