कोरोना वायरस : पांच हजार से अधिक लोगों को पिलाया आयुर्वेद का काढा|

Last Updated on March 18, 2020 by Shiv Nath Hari

कोरोना वायरस : पांच हजार से अधिक लोगों को पिलाया आयुर्वेद का काढा|

Rajasthan Corona Virus: Ayurveda decorates more than five thousand people.
Rajasthan Corona Virus: Ayurveda decorates more than five thousand people.

भरतपुर (18 मार्च ) जिला प्रशासन के निर्देशन में आयुर्वेद विभाग द्वारा चलाये जा रहे कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए आमजन को जागरूक करने एवं मौसमी बीमारियों से बचाव एवं चिकित्सा में लाभदायक काढा पिलाए जाने का शिविर भरतपुर कलैक्ट््रेट कैम्पस में लगाया गया जिसका शुभारम्भ अतिरिक्त जिला कलक्टर प्रशासन नरेश कुमार मालव द्वारा किया गया।

इस अवसर पर सभी प्रशासनिक अधिकारीगण मौजूद रहे। शिविर में लोगों को कारोना वायरस के लक्षण, पहचान एवं बचाव के उपायों के बारे में जानकारी दी गई। शिविर में 15 सौ से अधिक लोगों को निशुल्क काढा पिलाया गया।


इस अवसर पर कार्यक्रम समन्वयक वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी डाॅ. चन्द्रप्रकाश दीक्षित द्वारा खांसने, छींकने में रूमाल, तोलिया, टिश्यू पेपर काम में लेने एवं एक दूसरे की उपयोग की हुई वस्तुओं को उपयोग न करने जैसी सावधानियों कोे ध्यान में रखे जाने की सलाह दी।

इसी तरह अटलबंद दरवाजा स्थित श्री गणेश मंदिर पर जय श्री बांके बिहारी सेवा समिति के सहयोग से शिविर लगाया गया जिसका शुभारम्भ कृषि विभाग के उप निदेशक योगेश शर्मा, आयुर्वेद विभाग के उप निदेशक डाॅ. निरंजनसिंह एवं सहायक निदेशक संजीव कुमार तिवाडी द्वारा लोगों को काढा पिलाकर किया गया।

Rajasthan Corona Virus:
Rajasthan Corona Virus:

शिविर में समिति के संस्थापक अध्यक्ष जय प्रकाश गोयनका, हरीश अग्रवाल, विष्णु खंडेलवाल, हरि गोविन्द मिश्रा, गोपाल गर्ग, रामकुमार मित्तल, गंगा श्याम, मुकेश बृजवासी, सुरेश शर्मा, खेमचंद एवं मेलनर्स बलराम शर्मा, सुनील शर्मा, विमल, उमेश चंद, नरेश कुमार, डाॅ. लक्ष्मी नारायन शर्मा, डाॅ0 चन्द्रप्रकाश दीक्षित, डाॅ. वीरेन्द्र सिंह, किशनपाल सिंह, संजय, नरेन्द्र मुदगल, राजेन्द्र प्रसाद आदि लोगों द्वारा 35सौ से अधिक लोगों को निशुल्क काढा पिलाया गया।

कार्यक्रम समन्वयक डाॅ0 चन्द्रप्रकाश दीक्षित ने वताया कि गुरूवार को श्री दुर्गा मंदिर रनजीत नगर में प्रातः 10 बजे से 2 बजे तक मौसमी बीमारियों से बचाव का निःशुल्क काढा पिलाया जावेगा। कार्यक्रम को सभी वर्गों  द्वारा सराहा गया।