रेवदर विधानसभा क्षेत्र में अनुसूचित जाति व जनजाति छात्रावास खोलने का प्रस्ताव विचाराधीन नहीं – सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री

Last Updated on March 4, 2020 by Shiv Nath Hari

Proposal to open SC and ST hostels in Revdar assembly constituency not under consideration – Social Justice and Empowerment Minister

जयपुर, 4 मार्च। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री मास्टर भंवरलाल मेघवाल ने बुधवार को विधानसभा में कहा कि रेवदर विधानसभा क्षेत्र में अनुसूचित जाति व अनुसूचित जनजाति के नवीन छात्रावास खोलने का प्रस्ताव विचाराधीन नहीं है। 
श्री मेघवाल प्रश्नकाल में विधायकों द्वारा इस संबंध में पूछे गये पूरक प्रश्नों का जवाब दे रहे थे। उन्होंने कहा कि रेवदर मुख्यालय पर पहले से ही एक छात्रावास संचालित है जिसमें 20 विद्यार्थी ही अध्ययनरत हैं।


इससे पहले विधायक श्री जगसी राम के मूूल प्रश्न के लिखित जवाब में श्री मेघवाल ने विधानसभा क्षेत्र रेवदर के मण्डार, ढत्ताणी व भटृाणा में अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति के छात्रों का विद्यालयवार विवरण सदन के पटल पर रखा। 
उन्होंने बताया कि रेवदर विधानसभा क्षेत्र के ग्राम ढत्ताणी, भटृाणा, मणडार में नवीन छात्रावास खोलने का वर्तमान में प्रस्ताव विचाराधीन नहीं है एवं रेवदर मुख्यालय पर पहले से विभाग द्वारा संचालित छात्रावास में 25 विद्यार्थियों की स्वीकृत क्षमता के विरूद्ध 20 विद्यार्थी ही प्रवेशित हैं। अतः छात्र-छात्राओं की क्षमता बढ़ाने की वर्तमान में सरकार की कोई मंशा नहीं है।

Leave a Comment