राष्‍ट्रपति ने 61वें वार्षिक ललित कला अकादमी पुरस्‍कार प्रदान किए

Last Updated on March 4, 2020 by Shiv Nath Hari

राष्‍ट्रपति ने 61वें वार्षिक ललित कला अकादमी पुरस्‍कार प्रदान किए

The President, Shri Ram Nath Kovind presenting the Lalit Kala Akademi Awards to the Meritorious Artists, at a function, at Rashtrapati Bhavan, in New Delhi on March 04, 2020
The President, Shri Ram Nath Kovind presenting the Lalit Kala Akademi Awards to the Meritorious Artists, at a function, at Rashtrapati Bhavan, in New Delhi on March 04, 2020

राष्‍ट्रपति श्री राम नाथ कोविंद ने आज (04 मार्च, 2020) राष्‍ट्रपति भवन में आयोजित एक समारोह में 15 श्रेष्‍ठ कलाकारों को 61वें वार्षिक ललित कला अकादमी पुरस्‍कार प्रदान किए।

जिन कलाकारों को आज सम्‍मानित किया गया वे हैं: अनूप कुमार मन्‍झुखी गोपी, डेविड मलाकार, देवेन्‍द्र कुमार खरे, दिनेश पांड्या, फारूख अहमद हलदर, हरिराम कुम्‍भावत, केशरी नंदन प्रसाद, मोहन कुमार टी, रतन कृष्‍ण साहा, सागर वसंत काम्‍बले, सतविंदर कौर, सुनील थिरूवयूर, तेजस्‍वी नारायण सोनावाने, यशपाल सिंह और यशवंत सिंह। इन कलाकारों की कला का प्रदर्शन 22 मार्च 2020 तक, नई दिल्‍ली स्थित ललित कला अकादमी दीर्घा में किया जाएगा।

The President, Shri Ram Nath Kovind with the recipients of the Lalit Kala Akademi Awards, at Rashtrapati Bhavan, in New Delhi on March 04, 2020. The Minister of State for Culture and Tourism (Independent Charge), Shri Prahlad Singh Patel and the Secretary, Ministry of Tourism, Shri Yogendra Tripathi are also seen.
The President, Shri Ram Nath Kovind with the recipients of the Lalit Kala Akademi Awards, at Rashtrapati Bhavan, in New Delhi on March 04, 2020. The Minister of State for Culture and Tourism (Independent Charge), Shri Prahlad Singh Patel and the Secretary, Ministry of Tourism, Shri Yogendra Tripathi are also seen.

ललित कला अकादमी कला को बढ़ावा देने और प्रतिभा को सम्‍मानित करने के लिए हर वर्ष कला प्रदर्शनियां और पुरस्‍कार समारोह आयोजित करती है। यह प्रदर्शनी देश भर की प्रतिभाओं को एक स्‍थान पर लाती है और उभरती हुई कला प्रतिभाओं को प्रोत्‍साहित करती है ताकि वे पेंटिंग, मूर्तिकला, ग्राफिक्‍स, फोटोग्राफी, ड्राइंग, प्रतिष्‍ठापन और मल्‍टीमीडिया आदि की दुनिया की नई प्रकृति और माध्‍यमों को सीख सकें।

Leave a Comment