MP News in Hindi today: मंत्री श्री राजपूत ने की रबी उपार्जन 2020 की समीक्षा

Last Updated on May 20, 2020 by Shiv Nath Hari

MP News in Hindi today: [ad_1]


मंत्री श्री राजपूत ने की रबी उपार्जन 2020 की समीक्षा


परिवहन और भण्डारण की व्यवस्था सुनिश्चित करें – मंत्री श्री राजपूत 


भोपाल : बुधवार, मई 20, 2020, 21:35 IST

खाद्य, नागरिक आपूर्ति, सहकारिता एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री श्री गोविन्द सिंह राजपूत ने रबी उपार्जन 2020 की समीक्षा की। बैठक में उन्होंने कहा कि उपार्जन के साथ खाद्यान्न का सुरक्षित भण्डारण किया जाना जरूरी है। मानसून तथा संभावित तूफान को ध्यान में रखते हुए खाद्यान्न का सुरक्षित परिवहन किया जाये।

प्रमुख सचिव, खाद्य ने बताया कि अधिकांश जिलों में खरीदी का कार्य अंतिम चरण में है परन्तु कुछ जिलों में खरीदी विलंब से प्रारंभ होने तथा फसल विलंब से आने के कारण खरीदी अभी जारी रहेगी। उन्होंने बताया कि कुछ कृषक बिना एस.एम.एस. या पुराने एस.एम.एस. के आधार पर खरीदी केन्द्रों पर आ रहे हैं। उन कृषकों को जिला कलेक्टर के माध्यम से सूचीबद्ध कर नये सिरे से एस.एम.एस. जारी कर खरीदी सुनिश्चित की जा रही है।

पंजीकत किसानों की पूरी उपज खरीदी जाएगी

मंत्री श्री राजपूत ने कहा कि रबी उपार्जन हेतु ऑनलाईन पंजीकृत समस्त कृषकों की उपज गेहूँ, चना, मसूर एवं सरसों की कार्य योजना बनाकर खदीदी की जाये। जिन खरीदी केन्द्रों पर 26 मई 2020 तक खरीदी पूर्ण हो जायेगी, उन्हें बंद कर दिया जायेगा। परन्तु जिन उपार्जन केन्द्रों पर कृषकों से उपार्जन शेष रहेगा, उन केन्द्रों के लिये पृथक से विचार किया जायेगा।, कंटेन्मेंट क्षेत्र में विलंब से खरीदी के कारण परिस्थितियों को देखते हुए अंतिम समय में पृथक से विचार किया जायेगा।

वारदानों की कमी न आने दें

मंत्री श्री राजपूत ने कहा कि खरीदी के अंतिम चरण में वारदाने की कमी के कारण खरीदी प्रभावित न हो, यह सुनिश्चित कर लिया जाये। जिन केन्द्रों पर आवश्यकता से अधिक वारदाने है, उसे कमी वाले उपार्जन केन्द्रों पर समायोजित किया जाये। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाये कि वारदाने की कमी किसी भी केन्द्र पर नहीं आने दी जाये।

भण्डारण व्यवस्था सुव्यवस्थित की जायेगी

मंत्री श्री राजपूत को बताया कि कुछ जिलों में अनुमानित खरीदी से 50 प्रतिशत से अधिक वृद्धि हुई है। कुछ जिलों में भण्डारण क्षमता वहां की आवश्यकता से अधिक है। जिन जिलों में भण्डारण क्षमता कम है, वहां उपार्जित गेहूँ अधिक क्षमता वाले जिलों के भंडारगहों में परिवहन कर भेजा जाए। ऋण माफी और ऋण वितरण के संबध में भी बैठक में मंत्री श्री राजपूत ने कार्रवाई के लिए निर्देशित किया।

बैठक में प्रमुख सचिव, (खाद्य), प्रमुख सचिव (सहकारिता), प्रबंध संचालक, विपणन संघ, आयुक्त सहकारिता, संचालक खाद्य एवं प्रबंध संचालक, म.प्र. वेयर हाउसिंग कार्पोरेशन, प्रबंध संचालक, आपूर्ति निगम तथा प्रबंध संचालक, अपैक्स बैंक सहित संबंधित विभागों के अन्य अधिकारी उपस्थित थे।


मुकेश दुबे

MP News in Hindi today:
[ad_2]