तकनीकी एवं संस्कृत शिक्षा राज्य मंत्री डाॅ. गर्ग ने ओलावृष्टि प्रभावित ग्राम पंचायतों किया दौरा|

Last Updated on March 8, 2020 by Shiv Nath Hari

तकनीकी एवं संस्कृत शिक्षा राज्य मंत्री डाॅ. गर्ग ने ओलावृष्टि प्रभावित ग्राम पंचायतों किया दौरा|

  • ओलावृष्टि प्रभावित किसान आवेदन प्रस्तुत करने से वंचित न रहें – डाॅ गर्ग
  • डाॅ. गर्ग ने विधानसभा क्षेत्र की 9 ग्राम पंचायतों का किया दौरा
Minister of State for Technical and Sanskrit Education, Dr. Garg visits hail affected gram panchayats
Minister of State for Technical and Sanskrit Education, Dr. Garg visits hail affected gram panchayats

भरतपुर, 8 मार्च। तकनीकी एवं संस्कृत शिक्षा राज्य मंत्री डाॅ. सुभाष गर्ग ने रविवार को भरतपुर विधानसभा क्षेत्र के ओलावृष्टि प्रभावित ग्राम पंचायतों में से शेष रही 9 ग्राम पंचायतों का दौरा कर ग्रामीणोें को विश्वास दिलाया कि उन्हें बीमा कम्पनी व राज्य सरकार द्वारा निर्धारित मानदण्डों के तहत सभी को मुआवजा राशि दिलाई जायेगी लेकिन उन्हें फसल खराबे का आवेदन पत्र प्रस्तुत करना होगा।
डाॅ. गर्ग ने रविवार को ग्राम पंचायत मडरपुर, घुश्यारी , खैमरा , सुनारी, बहनेरा, बरसो, मलाह ,रामपुरा ,मुरवारा के अलावा गुण्डवा व महाराजसर गाॅव में पहुॅचकर अतिवृष्टि एवं ओलावृष्टि से प्रभावित क्षेत्रों का दौरा कर किसानों से जानकारी प्राप्त की और बताया कि जिन किसानों के किसान के्रडिट कार्ड जारी किये गये हैं उन्हें फसल बीमा का लाभ मिलेगा जिसके लिये उन्हें निर्धारित प्रपत्र पर आवेदन करना होगा । फसल खराबे के अवलोकन के लिये बीमा कम्पनी की टीम गाॅव में आयेगी इस टीम में कम्पनी के प्रतिनिधि के अलावा सरकारी कर्मचारी एवं गाॅव का किसान शामिल होगा जो गाॅव के 10 प्रतिशत क्षेत्र का अवलोकन करेगी और इस क्षेत्र मंे हुये खराबे के आधार पर पूरे गाॅव का फसल खराबा मानकर निर्धारित मापदण्डों के तहत मुआवजा उपलब्ध करायेगी।


त्कनीकी एवं संस्कृत शिक्षा राज्य मंत्री डाॅ. सुभाष गर्ग ने बताया कि जिन किसानों का फसल बीमा नहीं हुआ है अथवा जो फसलें बीमा कम्पनी की सूची में शामिल नहीं है या जिन किसानों ने बटाई पर खेती की है ऐसे किसानों को मुआवजा प्राप्त करने के लिये पटवारी अथवा ग्राम सचिव से आवेदन लेकर पूर्ति के बाद वापस उन्हें प्रस्तुत करना होगा। ऐसे किसानों को अधिकतम दो हैक्टेयर का मुआवजा राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन के तहत उपलब्ध कराया जायेगा किन्तु फसल बीमा वाले किसानों को कम्पनी एवं राज्य सरकार द्वारा उपलब्ध कराये जाने वाले दोनों प्रकार के मुआवजे का लाभ मिलेगा।
मडरपुर ग्राम पंचायत मुख्यालय पर किसानों को संबोधित करते हुये जिला कलक्टर नथमल डिडेल ने बताया कि सभी पटवारी एवं ग्राम सचिवों को निर्देश दिये गये है कि सभी ओलावृष्टि किसानों की मुआवजे के लिये आवेदन तैयार करें। उन्होंने बताया कि फसल कटाई प्रयोग के तहत भी जिन किसानों की उपज कम पाई जायेगी उन्हें नियमानुसार अलग से मुआवजा दिया जायेगा।
डाॅ. गर्ग के साथ ग्रामीण क्षेत्रों के अवलोकन के समय भरतपुर के उपखण्ड अधिकारी संजय गोयल , पुलिस उपाधीक्षक शहर हवासिंह , तहसीलदार अशोक मित्तल , सेवर पंचायत समिति के विकास अधिकारी देवेन्द्र सिंह सहित अन्य अधिकारी भी साथ थे।

अधिकारी मिलकर ओलावृष्टि प्रभावित किसानों के आवेदन भरवाने में करें सहयोग – डाॅ. गर्ग

भरतपुर, 8 मार्च। तकनीकी एवं संस्कृत शिक्षा राज्य मंत्री डाॅ. सुभाष गर्ग ने रविवार को सर्किट हाउस में अधिकारियों की बैठक लेकर निर्देश दिये कि ओलावृष्टि प्रभावित किसानों के आवेदन भरवाने में मिलकर सहयोग करें।
बैठक में डाॅ. गर्ग ने कहा कि किसानों की फसलों को ओलावृष्टि से भारी नुकसान हुआ है ऐसी स्थिति में सभी को चाहिये कि किसानों को अधिकतम मुआवजा मिले जिसके लिये उनके आवेदन पत्र निर्धारित प्रपत्र में भरवायें यदि किसी ग्राम पंचायत में पटवारी या ग्राम सचिव नहीं लगे हुये हैं तो वहाॅ अन्य स्थानों से कर्मचारी लगाकर आवेदनों की पूर्ति करवायें। उन्होंने कहा कि कृषि विभाग के अधिकारी व कर्मचारियों को भी चाहिये कि वे आवेदन पत्र भरे जाने की प्रक्रिया का निरन्तर अवलोकन करें ताकि कोई भी किसान मुआवजे के लिये भरे जाने वाले आवेदनों से वंचित नहीं रह सके।


बैठक में जिला कलक्टर नथमल डिडेल ने बताया कि भरतपुर के अलावा जिले के अन्य क्षेत्रों में भी ओलावृष्टि से फसलों को नुकसान पहुॅचा है इन क्षेत्रों के सभी पटवारियों एवं ग्राम सचिवों को पर्याप्त संख्या में बीमा कम्पनी एवं राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन कोष (एनडीआरएफ) से मुआवजा प्राप्त करने के आवेदन भिजवा दिये गये हैं और सभी को सहयोग करने के निर्देश जारी कर दिये हैं।

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर दो बालिकाओं का किया सम्मान

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर दो बालिकाओं का किया सम्मान
अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर दो बालिकाओं का किया सम्मान

भरतपुर, 8 मार्च। तकनीकी एवं संस्कृत शिक्षा राज्य मंत्री डाॅ. सुभाष गर्ग ने रविवार को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर दो बालिकाओं को सम्मानित किया गया ।
सर्किट हाउस में डाॅ. गर्ग ने छोटी भांडोर निवासी नीतू शर्मा को 11 हजार रूपये की राशि मुहैया कराई । यह बालिका प्रतिदिन गाॅव से भरतपुर दूध बेचकर अपने परिवार का पालन-पोषण कर रही है साथ में ही एमए में अध्ययनरत है। इसी प्रकार जाटोली रथभान निवासी राष्ट्रीय स्तर की तीरंदाज बालिका सुमन चैधरी को 3 लाख 50 हजार रूपये की लागत का तीरंदाजी किट भामाशाह से उपलब्ध कराने का विश्वास दिलाया।

शहर में सीवरेज लाईन के कार्य को गति दिलायें – डाॅ. गर्ग

भरतपुर, 8 मार्च। तकनीकी एवं संस्कृत शिक्षा राज्य मंत्री डाॅ. सुभाष गर्ग ने नगर निगम एवं नगर विकास न्यास के अधिकारियों को निर्देश दिये कि शहर में सीवरेज लाईन डालने के कार्य को गति दिलाये और किये गये कार्य के दौरान सडकों की समय पर मरम्मत करायें ताकि आमजन को असुविधा न हो।
डाॅ. गर्ग ने निर्देश दिये कि नगर निगम , नगर विकास न्यास , जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग सहित संबंधित विभागों की एक कमेटी बनायें जो प्रति सप्ताह क्षेत्र का अवलोकन कर सीवरेज लाईन के कार्य में आ रही बाधा की जानकारी प्राप्त कर समय पर समाधान करायें। उन्होंने निर्देश दिये कि सडकों पर विभिन्न विभागों द्वारा की जाने वाली खुदाई के कार्य पर अंकुश लगायें और खुदाई से पहले तय कर लें कि कौनसा कार्य प्राथमिकता के आधार पर कराना है।


बैठक में डाॅ. गर्ग ने निर्देश दिये कि शहर में गन्दे पानी की निकासी के लिये मास्टर ड्रेनेज सिस्टम प्लांन तैयार करें और स्वीकृति के लिये राज्य सरकार को भिजवायें । इस बैठक में जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के अधीक्षण अभियंता, अधिशाषी अभियंता , नगर निगम के अधिशाषी अभियंता के अलावा सीवरेज का कार्य कर रही एलएनटी एवं सृष्टि इन्फ्राटेक कम्पनी के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

Leave a Comment