चिकित्सा राज्य मंत्री ने भरतपुर विधान सभा क्षेत्र की ग्राम पंचायतों में खाद्य सामग्री वितरण का लिया जायजा

Last Updated on April 13, 2020 by Shiv Nath Hari

  • चिकित्सा राज्य मंत्री ने भरतपुर विधान सभा क्षेत्र की ग्राम पंचायतों में खाद्य सामग्री वितरण का लिया जायजा
  • उत्तर प्रदेश की सीमा को 4 स्थानों पर सख्ती से करें सील
Minister of State for Medicine took stock of distribution of food items in Gram Panchayats of Bharatpur Legislative Assembly area
चिकित्सा राज्य मंत्री ने भरतपुर विधान सभा क्षेत्र की ग्राम पंचायतों में खाद्य सामग्री वितरण का लिया जायजा

भरतपुर, 13 अपै्रल। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य राज्यमंत्री डाॅ. सुभाष गर्ग ने सोमवार को भरतपुर विधान सभा क्षेत्र की ग्राम पंचायतों का दौरा कर कोरोना वायरस संक्रमण के कारण किये गये लाॅकडाउन के दौरान गरीब एवं बेसहारा लोगों के लिए उपलब्ध कराई जा रही खाद्य सामग्री का जायजा लिया और आपात स्थिति के लिए सभी सरपंचों को अनुग्रह राशि भी प्रदान की।

डाॅ. गर्ग ने भरतपुर विधान सभा क्षेत्र की ग्राम पंचायत मुरवारा, तुहिया, धौरमुई, बिलौठी, जाटौली, जघीना, पीपला, गांवडी, ऊंदरा, घुस्यारी एवं चिकसाना का दौरा किया जहाँ सरपंचों, पूर्व सरपंचों एवं प्रतिष्ठत व्यक्तियों से गरीब लोगों के लिए वितरित की जा रही खाद्य सामग्री की जानकारी ली और विश्वास दिलाया कि किसी भी गरीब व्यक्ति को भूखा नहीं रहने दिया जायेगा, जिसके लिए सरकार एवं भामाशाहों के सहयोग से खाद्य एवं भोजन सामग्री का वितरण जारी है। उन्होंने कहा कि अनुग्रह राशि का उपयोग गरीब व्यक्तियों को भोजन उपलब्ध कराने के कार्य में करें यदि आवश्यकता हो तो भोजन सामग्री के लिए और राशि मुहैया कराई जायेगी।

तकनीकी एवं संस्कृत शिक्षा राज्य मंत्री ने पीपला एवं चिकसाना स्थित उत्तर प्रदेश की सीमाओं पर की गई नाकाबन्दी का भी जायजा लिया जहां बताया गया कि कुछ लोग कच्चे रास्तों के द्वारा राजस्थान में प्रवेश कर रहे हैं जिस पर जिला कलक्टर एवं पुलिस अधीक्षक को फोन पर निर्देश दिये कि लुलहारा व पीपला, नुरपुर व हसैला, कारौठ व खुबी का नगला तथा बाघई व ओल के रास्तों पर चैक पोस्ट बनाकर जाब्ता तैनात किया जाये ताकि उत्तर प्रदेश से आवागम रुक सके। चकऊंदरा गाँव के अवलोकन के दौरान पता चला कि गांव का केदार नामक व्यक्ति केरल से आकर गांव में रह रहा है जिसकी अभी तक कोई जांच नहीं हुई है। जिस पर जिला कलक्टर को फोन कर केदार को आरबीएम चिकित्सालय में क्वारंटाइन के लिए भिजवाने के लिए निर्देश दिये।

 डाॅ. गर्ग गांवडी गाँव के सरपंच के भाई जगवीर के आकस्मिक निधन पर उसके निवास पर जाकर शोक संतप्त परिवार को सात्वना दी और विश्वास दिलाया कि इस दुःख की घड़ी में वे उनके साथ हैं।