चिकित्सा राज्य मंत्री ने विधायक निधि से जनाना अस्पताल के लिए कलर डोपलर सोनोग्राफी मशीन एवं ब्लड स्टोरेज यूनिट उपलब्ध करवाने की स्वीकृति दी

Last Updated on April 29, 2020 by Shiv Nath Hari

चिकित्सा राज्य मंत्री ने विधायक निधि से जनाना अस्पताल के लिए कलर डोपलर सोनोग्राफी मशीन एवं ब्लड स्टोरेज यूनिट उपलब्ध करवाने की स्वीकृति दी

Minister of State for Medicine approved to provide color doppler sonography machine and blood storage unit for Janana Hospital from MLA fund

भरतपुर, 29 अप्रेल। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य राज्य मंत्री डाॅ. सुभाष गर्ग ने जनाना अस्पताल के लिए अपनी विधायक निधि से यूएसजी कलर डोपलर सोनोग्राफी मशीन एवं ब्लड स्टोरेज यूनिट क्रय कर उपलब्ध कराने की स्वीकृति प्रदान की है। उन्होंने बुधवार को कहा कि जिला आरबीएम अस्पताल, जनाना अस्पताल और राजकीय मेडिकल काॅलेज भरतपुर को आधुनिकतम सुविधायुक्त स्टेट आफ आर्ट इंफ्रास्ट्रक्चर उपलब्ध कराने के लिए वे लगातार प्रयत्नशील हैं।

चिकित्सा राज्य मंत्री ने कहा कि जिला आरबीएम अस्पताल में लाइफ सपोर्ट सिस्टम युक्त स्तरीय आईसीयू मई माह के अन्त तक विकसित कर दिया जायेगा। इसके लिए राज्य सरकार वेंटिलेटर, पैरामीटर माॅनिटर सहित अन्य आवश्यक उपकरण उपलब्ध करवा रही है। इसका फायदा निश्चित तौर पर जिले के गम्भीर रोगियों को मिलेगा और उन्हें इलाज के लिए जयपुर रैफर नहीं करना पड़ेगा।
चिकित्सा राज्य मंत्री ने मेडिकल काॅलेज मीटिंग हाॅल में मेडिकल काॅलेज प्रशासन के साथ बैठक कर जिला आरबीएम अस्पताल और जनाना अस्पताल के लिए आवश्यक चिकित्सा उपकरणों की जानकारी ली और कहा कि जिले के विधायकों ने जिले के चिकित्सा संस्थानों के आधुनिकीकरण के लिए अपनी विधायक निधि से राशि उपलब्ध करवायी है और आगे भी इसमें कोई कमी बाकी नहीं छोडेंगे।  

चिकित्सा राज्य मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत के नेतृत्व में कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए  प्रदेश में बेहतर कार्य हो रहा है और भरतपुर जिले में कोविड-19 संक्रमण को लेकर स्थिति में पर्याप्त सुधार आया है। जिले में पिछले 3-4 दिनों से कोई भी नया संक्रमित नहीं मिला है, जो बहुत राहत की बात है।

चिकित्सा राज्य मंत्री ने मेडिकल काॅलेज में आरटीपीसीआर मशीन पर कोविड-19 की जांच सुविधा शुरू होने और जिला आरबीएम अस्पताल में उपचार करवा रहे 88 मरीजों का पहला सैम्पल निगेटिव आने पर जिले के चिकित्सा विभाग और मेडिकल काॅलेज की टीम को बधाई देते हुए कहा कि बहुत जल्द जिले में कोविड-19 की 250 जांचे प्रतिदिन शुरू हो जायेंगी और आॅटोमेटिक एनालाईजर मशीन आने पर जांचों की संख्या बढ़कर प्रतिदिन एक हजार हो जायेगी।

बैठक के दौरान चिकित्सा राज्य मंत्री ने निर्देश दिये कि जनाना अस्पताल में 24 घंटे लगातार रोटेशन आधार पर स्त्री रोग एवं प्रसूति विशेषज्ञों की ड्यूटी लगायी जाये।

बैठक में मेडिकल काॅलेज की पिं्सिपल डाॅ. रचना नारायण, प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डाॅ. नवदीप सिंह सैनी, जनाना अस्पताल के प्रभारी डाॅ. रूपेन्द्र झा सहित मेडिकल काॅलेज के फैकल्टी प्रभारी एवं अन्य चिकित्सक उपस्थित रहे।