वन टीम ने रेस्क्यू कर पकड़ा जहरीला जीव,मां-बेटी बाल-बाल बची

Last Updated on May 26, 2020 by Shiv Nath Hari

वन टीम ने रेक्स्यू कर पकडा जहरीला जीव,मां-बेटी बाल-बाल बची

Forest team rescued poisonous creatures, mother-daughter narrowly escaped
वन टीम ने रेक्स्यू कर पकडा जहरीला जीव,मां-बेटी बाल-बाल बची

हलैना/भरतपुर(विष्णु मित्तल) कस्वा वैर के प्राचीन एवं ऐतिहासिक श्री सीताराम मन्दिर में एक जहरीला जीव घुस जाने से मन्दिर के महन्त की पत्नी तथा दो पुत्रियां बाल-बाल बच गई,जिस जहरीले जीव के कारण भगदड मच गई,वन विभाग की रेक्स्यू टीम ने रेक्स्यू अभियान चला कर जहरीले जीव को पकडा और उसे जंगल में छोड आए।

वन विभाग वैर नाका के प्रभारी व वनपाल मूलचन्द मीणा ने बताया कि कस्वा वैर स्थित श्री सीताराम मन्दिर के आवासीय भवन में एक जंगली जहरीला जीव प्रवेष कर गया,सूचना मिलने पर वनपाल ओमप्रकाष रेवाडी के नेतृत्व में रेक्स्यू टीम गठित की,टीम में वनपाल मूलचन्द मीणा,वनपाल ओमप्रकाष रेवाडी,वनकर्मी देवेन्द्रसिंह,गिरधरसिंह आदि षामिल थे,टीम ने सुबह 11.30 बजे जंगली जीव को पकडे का अभियान षुरू किया,जो दोपहर 2 बजे तक चला,जीव को पकडने के लिए टीम को कडी मेहनत करनी पडी। उन्होने बताया कि जहरीले जीव की लम्बाई चार फीट,मोटाई सवा फीट तथा वनज 28 किलोग्राम था। उक्त जीव को पकडने के बाद गांव सीता निकटवर्ती सीताकुण्ड की पहाडियों में छोड आए। मन्दिर के महन्त षिवषंकर षर्मा ने बताया कि लाॅकडाउन के कारण श्री सीताराम मन्दिर के कपाट बन्द है,केवल पूजा-पाठ,भगवान की प्रसादी व आरती को कपाट खोले जाते है।

मन्दिर की प्रसादी लेने को बाजार गया था,पीछे से आवासीय भवन में एक जंगली जहरीला जीव प्रवेष कर गया,जिस कमरा में प्रवेष किया,उसमें मेरी पुत्रियां एवं पत्नी विश्राम कर रही थी,पुत्रियों के पास विचित्र जीव को देख चीख-पुकार की,जिसे सुन कर लुपिन के कार्यक्रम प्रभारी गज्जनसिंह वर्मा एवं षिवसिंह धाकड सहित अनेक लोग आए,जिन्होने मां-बेटियों के पास विचित्र जीव देख वन विभाग नाका प्रभारी मूलचन्द मीणा को सूचना दी,जिन्होने रेक्स्यू अभियान चला कर जीव को पकडा और बोरी में रख स्वयं के साथ ले गए। महन्त की पत्नी उमा कुमारी ने बताया कि पुत्रियों के पास विचित्र जीव को देख भयभीत हो गए और प्राणों की रक्षा को ईष्वर से प्रार्थना करने लगे। मदद को आए गज्जनसिंह वर्मा एवं षिवसिंह धाकड ने वन विभाग की टीम बुलाई और जीव को पकडवाया। ऐसा जीव जीवन में पहली बार देखा,ये कहा से आया,मन्दिर में किधर से प्रवेष किया।