Corona has to be defeated, Bharatpur has to be won.

कोरोना को हराना है, भरतपुर को जिताना है’’ के संकल्प के साथ जागरूकता अभियान का आगाज

कोरोना को हराना है, भरतपुर को जिताना है’’ के संकल्प के साथ जागरूकता अभियान का आगाज
केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान में नेचर वाॅक, योग एवं प्राणायाम से दिया निरोगी राजस्थान का संदेश

Corona has to be defeated, Bharatpur has to be won.
कोरोना को हराना है, भरतपुर को जिताना है’’ के संकल्प के साथ जागरूकता अभियान का आगाज

भरतपुर, 21 जून। कोरोना संक्रमण के प्रति आमजन को जागरूक करने के लिए 21 से 30 जून तक जिले में जागरूकता अभियान चलाकर आमजन को यह समझाने का प्रयास किया जा रहा है कि कोरोना के प्रति सजगता एवं सतर्कता ही उनके जीवन को इस संक्रमण से बचा सकती है। इसी क्रम में अभियान के पहले दिन अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर जिला कलक्टर नथमल डिडेल ने प्रातः 5.30 केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान में ‘‘कोरोना बचाव नेचर वाॅक‘‘ को उद्यान के मुख्य द्वार से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया

जिसमें उनके साथ उपमहानिरीक्षक मुद्रांक एवं पंजीयन शौकत अली , अतिरिक्त जिला कलक्टर प्रशासन नरेश कुमार मालव, अतिरिक्त जिला कलक्टर शहर .राजेश गोयल, केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान के निदेशक मोहित गुप्ता, उपखण्ड अधिकारी संजय गोयल , जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक मुख्यालय प्रेमसिंह कुन्तल सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी , कर्मचारी ,आमजन एवं मीडियाकर्मियों ने उत्साहपूर्वक भाग लिया।

इस दौरान जिला कलक्टर नथमल डिडेल ने उपस्थित सभी लोगों को कोविड-19 वैश्विक महामारी के संक्रमण से रोकथाम एवं बचाव हेतु सभी नियमों , परामर्शों एवं दिशा निर्देशों की पालना करने की शपथ दिलाते हुये इस महामारी को हराने का संकल्प दिलाया। केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान के निदेशक मोहित गुप्ता ने भीषण गर्मी को देखते हुये भरतपुरवासियों से अपील की कि वे अपनी दैनिक दिनचर्या में पानी की उपयोगिता को समझते हुये पानी की बचत करने की आदत अपनाऐं ताकि उनके द्वारा बचाये हुये पानी से घना में वन्य जीवों एवं पक्षियों के लिये पर्याप्त पानी उपलब्ध हो सके।

नेचर वाॅक के दौरान जिला कलक्टर सहित सभी लोग मुख्य द्वार से घना के अन्दर बनी नाका होते हुये केवलादेव के अन्तिम छोर तक करीब पाॅच किलोमीटर की दूरी पैदल तय करते हुये पहुॅचें जहाॅ आयुर्वेद चिकित्सक वैद्य चंद्रप्रकाश दीक्षित ने अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर सभी को योग एवं प्राणायाम के महत्व से अवगत कराते हुये भ्रामरी मुद्रा, अनुलोम-विलोम, कपालभांति सहित अन्य योग मुद्राओं का अभ्यास कराया । एडीपीसी समसा अशोक कुमार धाकरे ने ’’कोविड-19 वायरस को मिलकर हमें हराना है…..’’ इस कविता के माध्यम से कोरोना से बचाव एवं रोकथाम के बारे में जागरूकता का संदेश दिया। योगाभ्यास के उपरान्त उपस्थित सभी लोगों को आयुर्वेद विभाग की ओर से औषधीय काढे का वितरण किया गया । इसके बाद जिला कलक्टर सहित सभी लोगों ने पैदल चलते हुये वापस घना के मुख्य द्वार तक पहुॅचकर नेचर वाॅक का समापन किया