Bharatpur News: लुपिन ने 8 चिकित्सा संस्थानों को वितरित की नियोनेटल रेस्पीरेटर मशीनें

Last Updated on September 28, 2020 by Shiv Nath Hari

Bharatpur News: लुपिन ने 8 चिकित्सा संस्थानों को वितरित की नियोनेटल रेस्पीरेटर मशीनें

Bharatpur News: Lupine distributes neonatal aspirator machines to 8 medical institutions
चिकित्साकर्मियों का किया सम्मान

Bharatpur News: भरतपुर,28 सितम्बर। तकनीकी एवं संस्कृत शिक्षा राज्य मंत्री डाॅ. सुभाष गर्ग ने कहा है कि राज्य में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिये मुख्यमंत्री के निर्देशन में उच्च स्तरीय प्रयास किये जा रहे हैं लेकिन इन प्रयासों में आम आदमी एवं स्वयंसेवी संस्थाओं की भागीदारी सुनिश्चित की जा रही है तभी इस लाईलाज बीमारी के फैलाव पर काबू पा सकेंगे।

डाॅ. गर्ग सोमवार को लुपिन फाउण्डेशन द्वारा होटल कदम्बकुंज में आयोजित नियोनेटल रेस्पीरेटर मशीन वितरण एवं चिकित्सा कर्मियों के सम्मान समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के बचाव के लिये जारी की गई गाईडलाईन की हम सबको पालना करनी होगी विशेष रूप से मास्क का नियमित उपयोग करना होगा तभी कोरोना संक्रमण की चैन टूट पायेगी। उन्होंने बताया कि इस संबंध में राज्य सरकार नियमित रूप से जिलों में कोरोना की स्थिति का फीडबैक लेकर आवश्यक उपाय करने के निर्देश जारी कर रही है।

डाॅ. गर्ग ने लुपिन फाउण्डेशन द्वारा जिले के 8 सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों को उपलब्ध कराई गई नियोनेटल रेस्पीरेटर मशीन की उपादेयता के बारे में कहा कि निश्चय ही नवजात शिशुओं को जीवनदान प्रदान करने में सहायक होगी । उन्होंने कहा कि लुपिन संस्था ने जिले के स्वास्थ्य एवं शिक्षण संस्थानों में जो विकास के कार्य कराये हैं उनसे आमलोगों व विद्यार्थियों को अवश्य लाभ मिला है ।

समाज के समृद्व लोगों को चाहिये कि वे स्वास्थ्य संस्थानों मंे विकास के लिये अपनी आय का कुछ हिस्सा अवश्य उपलब्ध करायें ताकि गरीब रोगियों का बेहतर ईलाज हो सके। उन्होंने संस्था द्वारा जिन चिकित्सा कर्मियों को सम्मानित किया जा रहा है उन्हें बधाई देते हुये कहा कि वे निश्चय ही और अधिक मेहनत और लगन के साथ कार्य कर गरीब लोगों का उपचार एवं राज्य सरकार की योजनाओं का लाभ दिलाने में सहयोग करेंगे।

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य राज्य मंत्री ने कहा कि वे भरतपुर के विकास के लिये कृतसंकल्प हैं और प्रयास कर रहे हैं कि भरतपुर जिले का शैक्षणिक एवं आर्थिक विकास हो इस दृष्टि से समाज के सभी प्रबुद्व लोगों , राजनैतिक दलों और संस्थानों को मिलकर सकारात्मक सोच के साथ कार्य करना होगा। उन्होंने कहा कि सिमको फैक्ट्री के संबंध में जो भ्रम फैलाया जा रहा है वह निराधार है और कोई भी भूमि जो जिस कार्य के लिये आवंटित की है उसे खुर्द-बुर्द नहीं किया जा सकता। उन्होंने स्पष्ट कहा कि उनके सामने कैसी भी समस्या आयें लेकिन वे भरतपुर के विकास के लिये पूरी लगन व मेहनत के साथ कार्य करते रहेंगे।

प्रारम्भ में लुपिन के अधिशाषी निदेशक सीताराम गुप्ता ने बताया कि वर्ष 2016 में राज्य में सर्वप्रथम भरतपुर जिले में नियोनेटल रेस्पीरेटर मशीन स्थापित की थी जिसके बेहतर परिणामों को देखते हुये अब पूरे जिले के ऐसे सामुदायिक अथवा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र जिनमें एक हजार से अधिक प्रसव हो रहे हैं उनमें नियोनेटल रेस्पीरेटर मशीनें उपलब्ध कराई जा रही हैं।

उन्होंने बताया कि संस्था ने जिले के चिकित्सा केन्द्रों में मरीजों को जनसुविधाऐं उपलब्ध कराने के कार्यों पर लगभग 1 करोड 40 लाख रूपये और शिक्षा संस्थानों में 1 करोड 50 लाख रूपये व्यय किये जा चुके हैं। उन्होंने जोर देकर कहा कि इन विकास कार्यों में आम आदमी की भागीदारी भी आवश्यक है तभी इन कार्यों में अधिक गुणवत्ता आ सकती है।

इस अवसर पर जिले के 11 चिकित्सक एवं 11पैरामेडिकल कार्मिकों का शाॅल ओढाकर एवं प्रतीक चिन्ह देकर सम्मान किया। कार्यक्रम में अतिरिक्त कलक्टर प्रशासन श्रीमति बीना महावर, मेडिकल काॅलेज के प्रिंसीपल डाॅ. रजत श्रीवास्तव, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. कप्तान सिंह, प्रमुखा चिकित्सा अधिकारी डाॅ. नवदीप सैनी उपस्थित थे संचालन महेन्द्र अवस्थी ने किया।