Bharatpur News: निजी चिकित्सा संस्थानों को ओपीडी, आईपीडी, आपातकालीन सेवाऐं सुचारू करने के दिये निर्देश

Last Updated on May 14, 2020 by Shiv Nath Hari

Bharatpur News: निजी चिकित्सा संस्थानों को ओपीडी, आईपीडी, आपातकालीन सेवाऐं सुचारू करने के दिये निर्देश

भरतपुर, 14 मई। जिला कलक्टर नथमल डिडेल ने जिले में कफ्र्यूग्रस्त क्षेत्रों के बाहर डेन्टल क्लिनिक को छोड़कर सभी निजी अस्पतालों, क्लिनिक और नर्सिंग होम संचालकों को ओपीडी, आईपीडी, आपातकालीन सेवाएंे सुचारू रूप से उपलब्ध कराने के निर्देश दिये हैं। इन चिकित्सा संस्थानों को कोविड-19 संक्रमण से बचाव के समस्त उपाय जैसे मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग, हैण्ड हाईजीन, सतह की सफाई, लेबर रूम, आॅपरेशन थियेटर, प्रोसेजर रूम का फ्यूमिगेशन सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिये गये हैं।

आदेशानुसार अस्पतालों में आने वाले सभी मरीजों व उनके परिजनों को मास्क पहनना होगा। बुखार, खांसी, इंफ्लूऐंजा जैसे लक्षणों व सांस लेने में गम्भीर परेशानी वाले मरीजों के लिए इन अस्पतालों के परिसर में ही अलग से ओपीडी संचालित करनी होगी तथा ऐसे मरीजों की सूचना प्रतिदिन मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को भिजवानी होगी। कोरोना वायरस के संदिग्ध अथवा संक्रमित व्यक्ति के आपातकालीन सर्जरी या प्रसव हेतु आने पर पीपीई किट सहित सभी सुरक्षात्मक उपाय अपनाते हुए सर्जरी या प्रसव करवाना होगा।

ऐसे मरीजों के उपचार के बाद आॅपरेशन थियेटर या लेबर रूम की सफाई व फ्यूमिगेशन हर हाल में सुनिश्चित करना होगा। संक्रमण का पता चलने पर इसे फैलने से रोकने के लिए तत्काल सीएमएचओ से सम्पर्क किया जाये। सभी निजी चिकित्सा संस्थानों के संचालक अपने यहां कार्यरत कार्मिकों की सूची सीएमएचओ को उपलब्ध करवायेंगे ताकि आवश्यकता पड़ने पर उनका चिकित्सकीय परीक्षण किया जा सके। कफ्र्यूग्रस्त क्षेत्रों में स्थित निजी चिकित्सा संस्थान कफ्र्यू हटने के बाद सक्षम स्तर से अनुमति लेकर संचालित किये जा सकेंगे। इन निर्देशों की अवहेलना करने पर निजी चिकित्सा संस्थान संचालकों के विरूद्ध नियमानुसार कार्रवाई की जायेगी।