कोरोना वायरस से बचाव के लिए पिलाया आयुर्वेद का काढा

Last Updated on March 13, 2020 by Shiv Nath Hari

कोरोना वायरस से बचाव के लिए पिलाया आयुर्वेद का काढा

Ayurveda decorated to protect against corona virus
Ayurveda decorated to protect against corona virus

भरतपुर 13 मार्च | जिला प्रशासन के निर्देशन में आयुर्वेद विभाग द्वारा आमजन को कोरोना बायरस एवं मौसमी बीमारियों से बचाव के बारे में जानकारी देने एवं बिगडते मौसम से हो रहे जुकाम, खांसी, बुखार, सिरदर्द, डेंगू आदि से बचाव एवं चिकित्सा में लाभदायक आयुर्वेद औषधियों से निर्मित निशुल्क काढा वितरण शिविर केन्द्रीय बस स्टैण्ड हीरादास कैम्पस में आयोजित किया गया।

शिविर का शुभारम्भ नगर निगम मेयर अभिजीत कुमार, अतिरिक्त जिला कलक्टर प्रशासन नरेश कुमार मालव, आयुर्वेद विभाग के उप निदेशक डाॅ. निरंजन सिंह, भरतपुर डिपो के मुख्य प्रबन्धक अवधेश शर्मा, आयुर्वेद रसायनशाला प्रभारी डाॅ. सुशील पाराशर, सहायक निदेशक संजीव कुमार तिवारी द्वारा शिविर में आए लोगों को काढा पिलाकर किया गया।

इस अवसर पर रसायनशाला प्रभारी डाॅ. सुशील पाराशर ने अच्छे स्वास्थ्य और रोगों में शीघ्र लाभ के लिए ऋतुओं के अनुसार खानपान एवं प्रतिदिन योग व्यायाम करने की सलाह दी उन्होंने स्वस्थ्य रहने के लिए स्वच्छता पर ध्यान देने की बात कही।

कार्यक्रम समन्वयक वरिष्ठ चिकित्सक डाॅ0 चन्द्रप्रकाश दीक्षित द्वारा कोरोना वायरस के लक्षण एवं बचाव हेतु रखी जाने वाली सावधानियों की जानकारी दी। 

उन्होंने मौसम परिवर्तन से हो रहे जुकाम, खांसी, बुखार,डेंगू,सिरदर्द, दमा रोग से बचाव एवं चिकित्सा में गोजिहवादिक्वाथद्रव्य गिलोय, तुलसी, अदरक, पीपल, कच्ची हल्दी, मुलैठी, काली मिर्च, सप्तपर्ण आदि औषधियों से निर्मित काढे को लाभ्दायक बताते हुए कहा कि काढा मौसम परितर्वन से एक दूसरे में फैलने वाले वायरल संक्रमण से लडने में सक्षम बनाने में सहायक होता है। इस अवसर पर अतिथियों का स्वागत राजस्थान रोडवेज एम्पलाइज यूनियन प्रदेश सचिव राजेन्द्र सोलंकी द्वारा किया गया।


शिविर में 5300 से अधिक लोगों ने जिसमें रोडवेज कर्मचारीयों के साथ साथ यात्रियेां, आसपास के कोलोनियों के 5 लोगों एवं स्कूली छात्र/छात्राओं ने निशुल्क काढा पीने का लाभ उठाया।


काढा वितरण में डाॅ. परमानंद, डाॅ. महेश लवानियां, डाॅ. किशोर सिंह,डाॅ. राजेश जांगिड, सुशील शर्मा, चिराग सहगल, नरेन्द्र मुदगल, किशनपाल सिंह, मनोज जिंदल, महताव सिंह, मेलनर्स रामवीर सिंह, नरेन्द्र सिंह द्वारा सहयोग किया गया। अंत में सभी का आभार व्यक्त उप निदेशक डाॅ. निरंजन सिंह द्वारा किया गया।