तजाकिस्तान से 184 राजस्थानी प्रवासी जयपुर पहुंचे,अपनी धरा पर आने से चेहरे पर आई चमक -एसीएस

Last Updated on June 8, 2020 by Shiv Nath Hari

तजाकिस्तान से 184 राजस्थानी प्रवासी जयपुर पहुंचे,अपनी धरा पर आने से चेहरे पर आई चमक -एसीएस 

184 Rajasthani migrants from Tajikistan reach Jaipur,

Shine on her face after coming to her house - ACS
184 Rajasthani migrants from Tajikistan reach Jaipur,
Shine on her face after coming to her house –

जयपुर, 8 जून। सोमवार दोपहर दुसंबे तजाकिस्तान से जयपुर पहुंची फ्लाइट में 184 राजस्थानी प्रवासी जयपुर पहुंचे। इनमें एक महिला और छोटे बच्चा व तजाकिस्तान में मेडिकल की पढ़ाई कर रहे बच्चे आए हैं। एयरपोर्ट पर थर्मल स्केनिंग, चिकित्सकों की टीम द्वारा मेडिकल चैकअप, इमिग्रेशन के बाद सभी प्रवासी राजस्थानी छात्र-छात्राओं को संस्थागत क्वारंटाइन के लिए भिजवाया गया।

अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. सुबोध अग्रवाल ने बताया कि प्रवासी राजस्थानियों की वापसी के लिए बनाए गए एयर सेल द्वारा नियमित मोनेटरिंग की जा रही है। राज्य में अब तक 24 फ्लाइट आ चुकी है और 3278 प्रवासी राजस्थानी जयपुर पहुंच चुके हैं। तजाकिस्तान से सोमवार को अपरान्ह पौने चार बजे जयपुर एयरपोर्ट पहुंची फ्लाइट में वहां मेडिकल का अध्ययन कर रहे प्रवासी राजस्थानी विद्यार्थी जयपुर पहुंचे हैं। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार द्वारा एयरपोर्ट पर आगमन से लेकर संस्थागत क्वारेंटाइन तक की सभी व्यवस्थाएं चाकचोबंद कर रखी है। एयरपोर्ट पर वरिष्ठ अधिकारियों, चिकित्सकों और अन्य की टीम आवश्यक व्यवस्थाओं में जुटी होने से एयरपोर्ट पर आने वाले प्रवासी राजस्थानियों को किसी तरह की असुविधा नहीं होने दी जा रही है। उन्होंने बताया कि तजाकिस्तान से ही 10 और 14 जून को आने वाली दो फ्लाइटों में लगभ्ग 349 राजस्थानी प्रवासियों के जयपुर आने की संभावना है।

एयरपोर्ट पर क्वारेंंटाइन अधिकारी श्री बिरधी चंद गंगवाल, पर्यटन विभाग के उपनिदेशक श्री उपेन्द्र सिंह शेखावत, रीको के डीजीएम श्री तरुण जैन, उपमुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. निर्मल जैन के नेतृत्व में डॉ. धनेश्वर व चिकित्सकों की टीम, जिला प्रशासन व पुलिस प्रशासन के अधिकारियों के दल द्वारा एयरपोर्ट पर सभी व्यवस्थाओं की देखरेख की जा रही है। फ्लाइट के आते सोशल डिस्टेसिंग की पालना कराते हुए बारी-बारी से सेनेटाइज, मेडिकल कियोस्क पर थर्मल स्केनिंग व डॉक्टरों की टीम द्वारा स्वास्थ्य जांच, उसके बाद तीन काउंटरों पर संस्थागत क्वारेंंटाइन की व्यवस्था, इमिग्रेशन और अन्य औपचारिकताआेंं के बाद बसों से क्वारेंटाइन होटल में भिजवाया जा रहा है। एयरपोर्ट पर सभी प्रवासियाें के मोबाइल फोन पर आरोग्य सेतु और राजकोविड एप अनिवार्य रुप से डाउनलोड करवाया जाता है वहीं एयरपोर्ट पर सभी प्रवासियों के लिए चाय, कॉफी, पीने का पानी, बिस्कुट आदि की निःशुल्क व्यवस्था है। एयरपोर्ट प्रशासन द्वारा आवश्यक जानकारियों की फिल्म और स्टेण्डियों के माध्यम से जानकारी दी जा रही है।

डॉ. सुबोध अग्रवाल ने बताया कि फ्लाइट से आने वाले सभी 184 छात्रों को सात दिन के संस्थागत क्वारेंटाइन पर रखा गया है। उन्होंने बताया कि केन्द्र सरकार द्वारा जारी स्वास्थ्य एडवाइजरी की सख्ती से पालना सुनिश्चित की जा रही है। फ्लाइट से आने वाले सभी प्रवासियों को संस्थागत क्वारेंटाइन के स्टेण्डर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिजर से संबंधित विस्तृत जानकारी दी जा रही है।