मां और बच्चों की अच्छी सेहत के लिए प्रदेश भर में शुरू हुआ ‘मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य पोषण दिवस‘

Last Updated on June 4, 2020 by Shiv Nath Hari

मां और बच्चों की अच्छी सेहत के लिए प्रदेश भर में शुरू हुआ ‘मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य पोषण दिवस‘ कोरोना काल में प्रसूताओं एवं बच्चों को टीकाकरण सहित विभिन्न स्वास्थ्य सेवाएं हुई सुचारू

Mother and Child Health Nutrition Day started across the state for the good health of mother and children.
Mother and Child Health Nutrition Day started across the state for the good health of mother and children.

जयपुर, 4 जून। चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा कि प्रदेश भर में कोराना संक्रमण की रोकथाम एवं उपचार गतिविधियों के अलावा मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य सेवाओं पर भी विशेष ध्यान दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में गुरुवार को मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य पोषण दिवस आयोजित कर प्रसूताओं एवं बच्चों को टीकाकरण सहित विभिन्न स्वास्थ्य सेवाएं सुचारू रूप से प्रदान की गई है।

प्रदेश भर में गुरुवार को आयोजित ‘एमसीएचएन-डे‘ के 7 हजार 798 से अधिक सत्रें का आयोजन कर 27 हजार से अधिक गर्भवती महिलाओं और 70 हजार से अधिक बच्चों को आवश्यक स्वास्थ्य जांच, टीकाकरण एवं परामर्श सेवाओं से लाभान्वित किया गया है। इन सत्रें में से 4 हजार 123 सत्रें की मॉनिटरिंग विभिन्न स्तर पर अधिकारियों द्वारा कर की गई है।

अतिरिक्त मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्री रोहित कुमार सिंह ने ऑनलाइन एप्लीकेशन के जरिए लाइव कॉलिंग कर मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य पोषण दिवस के आयोजन का अवलोकन किया और एएनएम, आशा सहयोगिनी सहित स्वास्थ्य कार्मिकों, स्वास्थ्य अधिकारियों से सीधे संवाद किया। उन्होंने कोरोना के दौरान प्रसूताओं एवं बच्चों को टीकाकरण सहित विभिन्न स्वास्थ्य सेवाएं समुचित स्वच्छता एवं सामाजिक दूरी के नियमों की पालना करते हुए सुचारू रूप से उपलब्ध कराने पर विशेष ध्यान देने के निर्देश भी दिए।

निदेशक आरसीएच डॉ. आरएस छीपी ने बताया कि एमसीएचएन डे पर प्रदेशभर के आंगनबाड़ी केन्द्रों पर मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य पोषण दिवस का आयोजन कर गर्भवती महिलाओं की प्रसव पूर्व जांच यथा हिमोग्लोबिन जांच, वजन, मूत्र, मधुमेह, लम्बाई, रक्तचाप की जांच की और आवश्यक परामर्श भी दिया गया।