नई पीढ़ी को सुनाएंगे कवि प्रदीप के गानेः अशोक गहलोत

Last Updated on March 2, 2020 by Shiv Nath Hari

नई पीढ़ी को सुनाएंगे कवि प्रदीप के गानेः मुख्यमंत्री ‘महात्मा गांधी का संदेश हैं कवि प्रदीप की रचनाएं’ 

Rajasthan news Jodhpur news नई पीढ़ी को सुनाएंगे कवि प्रदीप के गानेः अशोक गहलोत
नई पीढ़ी को सुनाएंगे कवि प्रदीप के गानेः अशोक गहलोत


जयपुर, 1 मार्च। मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने कहा है कि देशभक्ति, मानवता और साम्प्रदायिक सौहार्द से ओत-प्रोत कवि प्रदीप की रचनाएं नई पीढ़ी को सुनाने के लिए प्रदेश के विभिन्न जिलों में कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। उन्होंने कहा है कि इन कार्यक्रमाें के माध्यम से आज के युवा जान सकेंगे कि देश को आजादी हासिल करने के लिए किन हालातों से गुजरना पड़ा था। 


श्री गहलोत रविवार को जोधुपर के एसएन मेडिकल कॉलेज ऑडिटोरियम में दादा साहेब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित प्रसिद्ध गीतकार कवि प्रदीप द्वारा लिखे गीतों पर आधारित कार्यक्रम ’ऎ मेरे वतन के लोगो……’ में उपस्थित श्रोताओं को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि देश में शांति और भाईचारा बनाए रखने के लिए यह आवश्यक है कि लोग महात्मा गांधी के संदेश आत्मसात करें। उन्होंने कहा कि कवि प्रदीप के गीत गांधीजी के जीवन संदेश का गुलदस्ता हैं।


मुख्यमंत्री ने कहा कि आज देश में जो डर और तनाव है उसे बदलने के लिए सार्वजनिक जगहों पर प्रेम और भाईचारे का संदेश देने वाले कार्यक्रमों का आयोजन होगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में ऎसा माहौल बनाया जाएगा कि राजस्थान पूरे देश में शांति और सद्भाव की मिसाल बन सके।  


श्री गहलोत ने कार्यक्रम में पूरे मनोयोग से गीतों का आनन्द लिया और कलाकारों की हौसला अफजाई की। उन्होंने कहा कि सत्तर वर्ष से भी अधिक पहले लिखी गई कवि प्रदीप की रचनाएं आज भी मौजूं हैं और देश के वर्तमान हालात पर एकदम सटीक बैठती हैं। उनके गीत और कविताएं मानवता का संदेश देती हैं।


इस अवसर पर कला, साहित्य एवं संस्कृति मंत्री डॉ. बी.डी. कल्ला, सूचना एवं जनसम्पर्क मंत्री डॉ. रघु शर्मा, अल्पसंख्यक मंत्री श्री सालेह मोहम्मद, विधायक श्रीमती मनीषा पंवार, श्री किसनाराम विश्नोई, श्री महेन्द्र विश्नोई, आरसीए चेयरमैन श्री वैभव गहलोत, पूर्व सांसद श्री अविनाश पाण्डे, स्व. प्रदीप की पुत्री मितुल प्रदीप, फस्र्ट इंडिया न्यूज चैनल के सीईओ श्री जगदीश चन्द्रा सहित अन्य जनप्रतिनिधि, गणमान्यजन एवं बड़ी संख्या में आमजन उपस्थित थे।

Leave a Comment