तेन्दूपत्ता के 13.22 लाख मानक बोरे का 526.52 करोड़ विक्रय मूल्य पर निवर्तन

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Last Updated on May 14, 2020 by Shiv Nath Hari

राज्य लघु वनोपज संघ द्वारा संग्रहण वर्ष 2020 में तेन्दूपत्ते के 937 लाटों के अग्रिम निवर्तन के लिये ऑनलाइन निविदाएँ आमंत्रित की गई हैं। अग्रिम निवर्तन में 689 लाटों का 13 लाख 22 हजार मानक बोरे का 526 करोड़ 52 लाख रुपये के विक्रय मूल्य पर निवर्तन किया जा चुका है। शेष 248 लाटों में विभागीय संग्रहण कराने के निर्देश क्षेत्रीय कार्यालयों को दिये गये हैं। प्रदेश में वर्ष 2004 से तेन्दूपत्ता व्यापार की नई नीति का निर्धारण कर क्षेत्रवार निविदाएँ बुलाई जाकर पत्ते का अग्रिम निवर्तन किया जाता है।

प्रदेश में तेन्दूपत्ता तुड़ाई का काम 25 अप्रैल से और संग्रहण 4 मई से प्रारंभ हो चुका है। लगभग 33 लाख 12 हजार तेन्दूपत्ता संग्राहकों द्वारा अच्छी गुणवत्ता का बीड़ी बनाने योग्य तेन्दूपत्ता संग्रहित किया जा रहा है। संग्राहकों को उनके द्वारा संग्रहित किये गये तेन्दूपत्ते का 2500 रुपये प्रति मानक बोरे की दर से संग्रहण पारिश्रमिक का भुगतान किया जायेगा।

उल्लेखनीय है इस वर्ष वनोपज संग्रहण, परिवहन और भण्डारण कोविड-19 के सुरक्षा दायरे में हो रहा है। राज्य शासन ने कोरोना संक्रमण और लॉकडाउन के मद्देनजर लघु वनोपज संग्रहण, प्र-संस्करण, उपचारण, परिवहन, भण्डारण और विपणन कार्यों में संलग्न श्रमिकों और ग्रामीणों को संक्रमण से बचाने के लिये विस्तृत दिशा-निर्देश भी जारी किये। तेन्दूपत्ता क्रेताओं, प्रतिनिधियों के लिये फोटो परिचय-पत्र जारी किये गये। लघु वनोपज संग्रहण कार्यों में संलग्न कर्मचारी, क्रेता, प्रतिनिधि, श्रमिक और ग्रामीणों को अनिवार्य रूप से मास्क/फेस कवर, गमछा, रुमाल आदि से ढककर रखने के निर्देश दिये गये। लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा जारी स्वास्थ्य संबंधी आदेशों का पालन सुनिश्चित किया गया। प्रत्येक केन्द्र, गोदाम पर सेनिटाइजर और साबुन रखे गये हैं। संग्रहण केन्द्रों पर 2-2 मीटर की दूरी पर चूने का घेरा बनाया गया है।

Source link

Advertisement
Advertisement