कोविड – 19 जागरूकता अभियान 2020 डूंगरपुर में पौधारोपण एवं श्रमदान के साथ दिया सोशल डिस्टेंस जागरूकता का संदेश

Last Updated on June 26, 2020 by Shiv Nath Hari

कोविड – 19 जागरूकता अभियान 2020 डूंगरपुर में पौधारोपण एवं श्रमदान के साथ दिया सोशल डिस्टेंस जागरूकता का संदेश

Covid - 19 Awareness Campaign 2020: Social Distance Awareness Message with Plantation and Shramdaan at Dungarpur
कोविड – 19 जागरूकता अभियान 2020 डूंगरपुर में पौधारोपण एवं श्रमदान के साथ दिया सोशल डिस्टेंस जागरूकता का संदेश

जयपुर, 26 जून। राज्य सरकार द्वारा पूरे प्रदेश में चलाये जा रहें कोविड-19 जागरूकता अभियान के तहत डूंगरपुर जिले में जन अभियान बनाने के लिए जिला प्रशासन डूंगरपुर ने शुक्रवार को मनरेगा कार्य स्थल पर पहुंचकर पौधरोपण एवं श्रमदान कर कोविड-19 जागरूकता का संदेश दिया। पूरे जिले में चल रहें समस्त मनरेगा कार्य स्थलों पर सोशल डिस्टेंस अपनाने, मास्क एवं साबून से बार-बार हाथ धोने कार्यक्रम का आयोजन किया गया। 

‘सोशल डिस्टेंस को अपनाना है, कोरोना को भगाना है’ कि टेग लाइन के साथ शुरू हुए इस कार्यक्रम में जिला कलक्टर कानाराम, अतिरिक्त जिला कलेक्टर श्री कृष्ण पाल सिंह चौहान, मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री दीपेंद्र सिंह राठौड़ सहित समस्त उपखंड अधिकारी, विकास अधिकारी, चिकित्सा अधिकारी, शिक्षा अधिकारी, आईसीडीएस सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी जिले के विभिन्न मनरेगा कार्य स्थलों पर पहुंचे तथा वहां पर पौधरोपण कर एवं स्वयं श्रमदान कर श्रमिकों के मन से कोरोना के भय को दूर करते हुए सतर्कता बरतते हुए कार्य करने के लिए जागरूक किया।

कार्यक्रम के तहत जिला स्तरीय जागरूकता कार्यक्रम डूंगरपुर ब्लॉक के भाटपुर तालाब पर चल रहे महात्मा गांधी नरेगा कार्य स्थल पर सोशल डिस्टेंस, मास्क पहनने एवं साबनु से हाथ धोने के डेमों के साथ आयोजित किया गया। जिला कलक्टर श्री काना राम ने कार्य स्थल पर पौधारोपण कर एवं श्रमदान कर श्रमिकों को कोरोना से नहीं घबराने तथा सावधानियों को अपनाने का संदेश दिया । इसके साथ ही कोरोना बचाव के लिए सावधानियां अपनाना क्यों और कितना जरूरी है, इसकी भी विस्तार से जानकारी दी। इस मौके पर अतिरिक्त जिला कलक्टर कृष्ण पाल सिंह चौहान, मुख्य कार्यकारी अधिकारी दीपेंद्र सिंह राठौड़, उपखंड अधिकारी डूंगरपुर सुरेश खटीक, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. महेंद्र परमार, विकास अधिकारी विक्रम सिंह अहाडा सहित कई अधिकारियों ने मौके पर श्रमदान कर एवं पौधारोपण कर कार्य किए जाते समय अपनाए जाने वाले सोशल डिस्टेंस एवं हाथ धोने का सीधा संदेश दिया।

इस मौके पर सीएमएचओ डॉ महेन्द्र परमार ने स्थानीय वागड़ी बोली में कोरोना से बचाव हेतु अपनाई जाने वाली सावधानियों के बारें में समझाया और अपील की इन सावधानियों को अपनाते हुए ही कार्य करें। कार्यक्रम में जिला कलेक्टर कानाराम ने श्रमिकों को कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु अपनाई जाने वाली सावधानियों के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी देते हुए बताया कि हमें कोरोना से घबराना नहीं है लेकिन पूर्ण सतर्क होकर के कोरोना से बचना भी है । इस अवसर पर उन्होंने कार्यस्थल पर मास्क का वितरण भी किया। 

इस अवसर पर जिला कलक्टर श्री काना राम ने समस्त उपस्थित श्रमिकों को एसएमएस (सोशल डिस्टेंस, मास्क का उपयोग करने एवं साबुन से हाथ धोने) भीड़भाड़ वाली जगहों पर नहीं जाने, सार्वजनिक स्थानों पर नहीं थूकने आदि के बारें में विस्तारपूर्वक बताते हुए बचाव हेतु सावधानियां अपनाने की शपथ भी दिलवाई। 

जागरूकता कार्यक्रम के तहत पूरे जिले के महात्मा गांधी नरेगा कार्यस्थलों पर अधिकारियो ने श्रम दान किया तथा निर्धारित टास्क के अनुसार कार्य कर पूरा भुगतान लेने के लिए प्रेरित भी किया। कार्य स्थलों पर श्रमिकों को अपने औजार अलग लाने, एक दुसरे के औजार काम में नहीं लेने, दूरी बनाकर कार्य करने आदि के लिए भी समझाया गया।  

बैंकों में मनाया कोविड-19 जागरुकता कार्यक्रम

कोरोना जागरूकता अभियान के तहत पूरे जिले के बैंकों में शुक्रवार को ‘होम डिलीवरी एवं डिजिटल भुगतान को अपनाएं, कोरोना से स्वयं एवं परिवार को बचाएं’ टैग लाइन के साथ कोरोना जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

जिला मुख्यालय पर लीड बैंक बैंक ऑफ बडौदा मेें आयोजित कार्यक्रम में अतिरिक्त जिला कलक्टर कृष्ण पाल सिंह चौहान ने मौजूद ग्राहकों एवं बैंक अधिकारियों तथा कार्मिकों को बैंकों में भुगतान के समय अपनाई जाने वाली सावधानियों, समस्त एटीएम को सैनिटाइज करने, हैंड वॉश का डेमो देने, बैंकों के प्रवेश स्थल पर सेनेटाइजर अथवा साबुन-पानी रखने, ग्राहकों के बीच सोशल डिस्टेंस बना रहे इस हेतु गोले बनाने के बारे में जानकारी दी। साथ ही मौजूद ग्राहकों को भी मास्क का उपयोग करने, सोशल डिस्टेंस अपनाने के लिए बनाये गये गोलों में ही खड़े रहकर दूरी बनाये रखने, लेनदेन की प्रक्रिया के समय सावधानी अपनाने, डिजिटल भुगतान एवं होम डिलीवरी पर अधिक फोकस करने का आह्वान किया ।

बैंक अपने बीसी एजेंटों को नियमित रूप से क्षेत्र के सभी गावों में सेवा देने का अविलंब प्रबंध करे और समय सारणी बनाकर क्षेत्र में सूचना देवे जिससे दूर दराज के ग्रामीणों को बैंक तक न आना पड़ें। इस समय मौके पर मौजूद ग्राहकों को मास्क का वितरण भी किया गया। इस मौके पर एडीएम चौहान ने बैंकों द्वारा बनवाये गये  जागरूकता पोस्टर का भी विमोचन किया। ग्राहकों द्वारा बैंक में प्रवेश करने के साथ ही अपनाई जाने वाली सावधानियों को ऑडियों के माध्यम से निरन्तर प्रसारण की व्यवस्था की गई। लीड बैंक बैंक ऑफ बडौदा प्रबंधक ने बताया कि शुक्रवार को पूरे जिले के बैंकों में जागरूकता कार्यक्रम मनाया जा रहा है। इस अवसर पर समस्त बैंकों के अधिकारीगण मौजूद रहें। 

उन्होंने हिंदी व बागड़ी भाषा में तैयार की गई जागरूकता शपथ व संदेश की सराहना की और क्रिसिल फाउंडेशन द्वारा जिले में किये गए अब तक के कार्यो एवं जागरूकता अभियान के अनुभव के बारे में विस्तार से जानकारी ली। सभी को कोरोना से जागरूकता की शपथ भी दिलवाई। 
इस मौके पर एलडीएम संजय शर्मा ने कोरोनो जागरूकता अभियान को सफल बनाने के लिए सभी बैंको के प्रयासों की सराहना की एवं विशेष रूप से क्रिसिल फाउंडेशन द्वारा संचालित मनिवाईज वित्तीय साक्षरता केंद्र के कर्मियों के ब्रांच स्तर पर चलाये जाने वाले जागरूकता कार्यक्रम की प्रशंसा की।

कार्यक्रम में अशोक कुमार गजरानी वरिष्ठ प्रबंधक ऑफ बड़ौदा बैंक, धमेर्ंद्र पाटीदार वरिष्ठ प्रबंधक एसबीआई, आरसेटी निर्देशक अंकित देवल, श्री महेन्द्र जैन, श्री ओ पी जोशी-बडौदा राजस्थान ग्रामीण बैंक शाखा प्रबन्धक, सहायक निदेशक जनसंपर्क अधिकारी श्रीमती छाया जोशी, शिवराज सिंह शेखावत व अनेक बैंक अधिकारी उपस्थित रहे । उपास्थित सभी बैंक मैनेजर ने जागरूकता अभियान में बैंको द्वारा किये गए प्रयासों के बारे में जानकारी दी एवं जिले की सभी बैंकों शाखाओ में विशेष जागरूकता कार्यक्रम करने हेतु क्रिसिल फाऊंडेशन की टीम को आमन्ति्रत किया । कार्यक्रम में क्रिसिल फाउंडेशन से रमेश बुनकर ने बताया की केंद्र की टीम द्वारा पांच ब्लक के बैंकों में यह विशेष अभियान एसबीआई सीमलवाड़ा, बैंक ऑफ बड़ौदा रामगढ़, राजस्थान बडौदा ग्रामीण बैंक सांखली, छोटा दिवडा एवं ठाकरडा में किया जा रहा है। 

गांव-गांव आईसीडीएस विभाग के द्वारा दिया जा रहा है एसएमएस का संदेशमुख्यमंत्री की मंशानुरूप कोरोना जागरूकता के लिए जिला प्रशासन के निर्देशन में पूरे जिले में चल रहें विविध जागरूकता कार्यक्रमों के तहत महिला एवं बाल विकास विभाग के तत्वाधान में भी कई जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है।

 उप निदेशक लक्ष्मी चरपोटा ने बताया कि बाल विकास एवं महिला अधिकारीता विभाग द्वारा कोरोना वायरस बीमारी के बचाव हेतु जन जागरूकता अभियान के तहत गांव-गांव, फला-फला आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं, सहायिकाओं तथा अन्य विभागीय अधिकारियों एवं कर्मचारियों के द्वारा एसएमएस सोशल डिस्टेंस, मास्क का उपयोग करने एवं साबुन से हाथ धोने) का संदेश दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि साथ ही 11 से 18 वर्ष  की किशोरी बालिकाओं व महिलाओ को महिला शक्ति केन्द्रों पर जागरूक किया जाकर साबुन से हाथ धोकर डेमो भी बताया जा रहा है। 

उन्होंने बताया कि मास्क का उपयोग करने तथा सोशल डिस्टेंस बनाकर रखने, सार्वजनिक स्थानों पर नही थूकने, भीड भाड़ वाली जगहों पर नहीं जाने, अनावश्यक घर से बाहर नहीं जाने तथा सामाजिक आयोजन से बचने का संदेश दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि सोशल डिस्टेंस अपनाते हुए निर्धारित संख्या में ही रैली का भी आयोजन कर जागरूकता संदेश दिये जा रहे हैं।